वाहनों की एंट्री नहीं मिलने पर मजदूरों ने किया हंगामा, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बॉर्डर पर लगा भयंकर जाम

0
103

उत्तर प्रदेश – देश में कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन के बीच प्रवासी मजदूरों का पलायन जारी है। कुछ मजदूर पैदल तो कुछ वाहन के जरिए अपने ग्रह प्रदेश की ओर लौट रहे हैं। वहीं आज उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बॉर्डर पर उत्तर पुलिस ने सील रक्सा बॉर्डर से झांसी में वाहनों को प्रवेश करने से रोक दिया है। प्राइवेट वाहनों की उत्तर प्रदेश में एंट्री नहीं करने देने पर मजदूरों ने जमकर हंगामा शुरू कर दिया। प्रवासी मजदूरों का हंगामा बढ़ता देख आईजी, कमिश्नर, डीएम और एसएसपी रक्सा बॉर्डर पर पहुंच गए हैं।

फिलहाल मजदूरों को समझाने की कोशिश की जा रही है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ साफ कहा है कि यदि कोई मजदूर पैदल या किसी वाहन में छुपकर उत्तर प्रदेश में प्रवेश करेगा तो इसके जिम्मेदार थानेदार होंगे। बताया जा रहा है कि सीएम के आदेशनुसार, पुलिस ने रक्सा बॉर्डर पर बैरिकेडिंग कर रखी है और वाहनों को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। 20 किलोमीटर लंबा जाम लगा मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बॉर्डर पर वहानों के रोके जाने से मजदूर हंगामा कर रहे हैं।

हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर अपने-अपने प्राइवेट वाहनों से नहीं उतरने की जिद पर अड़ गए है। इसी वजह से झांसी के रक्सा बॉर्डर 20 पर किलोमीटर लंबा जाम लग गया है। कई दिनों से भूखे-प्यासे प्रवासी मजदूरों ने हंगामा करना शुरू कर दिया है। हंगामे को देखते हुए बॉर्डर पर कई कंपनी पीएसी बुला ली गई है। मजदूरों ने रोडवेज़ की बसों में बैठने से इनकार कर दिया है। 3 थानेदार हो चुके हैं निलंबित बता दें कि शनिवार की सुबह औरैया में हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गई थी। इस मामले के संबंध में 3 थानेदार निलंबित किए जा चुके हैं क्योंकि इनके क्षेत्रों से होकर वाहन गुजरे थे। इस हादसे के बाद सीएम योगी ने सख्त निर्देश दिए। श्रमिकों और कामगारों को भोजन-पानी देकर बसों से उनके गृह नगर भेजने की व्यस्वस्था की जाए।