वंदे भारत मिशन के तहत फ्लाइट से लौटी गर्भवती महिला को प्राइवेट हॉस्पिटल में प्रेवश न मिलने से बच्चे की कोख में ही मौत

0
200

नई दिल्ली : दुनियाभर में कोरोना वायरस महामारी ने ताबाही मचाई हुई है। इस महामारी के चलते देश में कारण लॉकडाउन जारी है। इसी बीच वंदे भारत मिशन के तहत फ्लाइट से लौटी गर्भवती महिला को पहले अपार्टमेंट और फिर प्राइवेट हॉस्पिटल में प्रेवश नहीं दिया गया। खबरों के मुताबिक, गर्भवती महिला को इलाज नहीं मिलने की वजह से कोख में ही उसका बच्चा मर गया। वंदे भारत मिशन के तहत एक गर्भवती महिला की देश में वापसी हुई। इस दौरान गर्भवती महिला का कोरोना वायरस (कोविड-19) टेस्ट भी हुआ था। महिला की टेस्ट रिपोर्ट भी निगेटिव आयी। इसके बाद वह मंगलौर स्थित अपने अपार्टमेंट में जाने लगी तो अपार्टमेंट एसोसिएशन ने प्रवेश देने से मना कर दिया। महिला का पूरा परिवार इसी अपार्टमेंट में रहता है।

इसके बाद महिला अपने इलाज के लिए क प्रावइवेट अस्पताल में पहुंची। लेकिन महिला के विदेश से वापसी की खबर सुनने के बाद डॉक्टरों ने इलाज से इनकार कर दिया। गर्भवती महिला को प्राइवेट अस्पताल की इस अमानवीयता का खामियाजा उठाना पड़ा और बाद में उसकी कोख में ही उसके बच्चे ने दम तोड़ दिया।

इस मामले के संबंध में मंगलौर नगर निगम कमिश्नर ने अपार्टमेंट एसोसिएशन को नोटिस जारी किया है। नोटिस जारी कर पूछा है कि आपने महिला को उसके घर में प्रवेश करने से क्यों मना कर दिया था। साथ ही कमिश्नर ने निर्देश दिया है कि महिला को उसके घर में जाने से कोई नहीं रोक सकता है। यदि कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here