अमेरिका में टेंट में हो रहा टेस्ट, पार्क में बन रहा अस्पताल, सेना कर रही मदद

0
44

अमेरिका : दुनिया का सबसे ताकतवर देश अमेरिका कोरोना वायरस के कहर से कराह रहा है. विश्व की महाशक्ति अमेरिका कोरोना की चपेट में इस तरह आया कि यहां संसाधनों की कमी हो गई है. अमेरिका में अस्पताल के बिस्तर कम पड़ने लगे हैं, यहां पर वेंटिलेटर की कमी हो गई है. हालात से निपटने के लिए अब टेंट में ही अस्थायी इंतजाम कर कोरोना का टेस्ट किया जा रहा है. सेना को सहायता के लिए बुलाया गया है और आपात स्थिति से निपटने के लिए पार्कों को अस्पताल में तब्दील किया जा रहा है. बता दें कि ट्रंप के सलाहकारों ने कहा है कि कोरोना वायरस से कम से कम दो लाख लोगों की जान जा सकती है.

इसके बाद अमेरिका बेहद सतर्क है. पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार इस वक्त अमेरिका में युद्ध जैसे हालात हैं. आनन-फानन में अस्पताल बनाने के लिए सेना की मदद ली जा रही है. जगह की कमी होने की वजह से कन्वेंशन सेंटर, रेस ट्रैक और पब्लिक पार्क में अस्थायी अस्पताल बनाया जा रहा है. अमेरिका की ऑटो कंपनियां ने इस वक्त कारों और गाड़ियों का प्रोडक्शन रोक दिया है. इसके बजाय ये कंपनियां वेंटिलेटर बना रही हैं. इसका इस्तेमाल कोरोना से ग्रस्त अमेरिकियों के लिए किया जाएगा. इसके अलावा ये कंपनियां इलाज के दूसरे उपकरण बना रही हैं. बता दें कि ऐसी नौबत युद्ध के दौरान ही आती है.