तेलंगाना एनकाउंटर- जनतंत्र में व्यवस्था के आमूल-चूल कायाकल्प के बारे में भी सोचें: कुमार विश्वास

0
50

हैदराबाद. वेटरनरी डॉक्टर से दुष्कर्म के बाद हत्या के चारों आरोपियों को शुक्रवार को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया। इसके बाद सोशल मीडिया पर फिल्म कलाकारों, राजनेताओं समेत कई लोगों की प्रतिक्रियाएं आईं। अभिनेता नागार्जुन ने ट्वीट किया, ‘‘मेरी सुबह की शुरुआत इसी खबर से हुई। न्याय हो गया।’’ वहीं, अभिनेत्री रकुलप्रीत सिंह ने तेलंगाना पुलिस को धन्यवाद देते हुए लिखा, ‘‘दुष्कर्म जैसा अपराध करने के बाद आप ज्यादा दूर नहीं भाग सकते।’’वहीं कुमार विश्वास ने कहा कि इस घटना पर देश के सामान्य नागरिकों में प्रसन्नता “न्यायिक व्यवस्था व राजनैतिक संकल्प-शक्ति” के प्रति गहरे अविश्वास की दुखद सूचना भी है. जनतंत्र के रूप में हम सब को इस व्यवस्था के आमूल-चूल कायाकल्प के विषय में सोचना ही होगा.

निर्भया की मां आशा देवी ने कहा, ‘‘इस सजा से मुझे बहुत खुशी हुई। पुलिस ने अच्छा काम किया है। इन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होनी चाहिए। मेरी देश की न्याय व्यवस्था और सरकार से अपील है कि निर्भया के अपराधियों को भी जल्द से जल्द फांसी होनी चाहिए।’’

एनकाउंटर में दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए
पुलिस आरोपियों को लेकर उस अंडरब्रिज पर पहुंची थी, जहां उन्होंने डॉक्टर को कैरोसिन डालकर जलाया था। पूछताछ और घटना को रीक्रिएट करने के दौरान आरोपी भागने लगे। इसके बाद पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। इसमें चारों की मौत हो गई। साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनर ने बताया कि चारों आरोपी शुक्रवार तड़के 3 से 6 बजे के बीच शादनगर स्थित चतनपल्ली में एनकाउंटर में मारे गए। एक वरिष्ठ पुलिस अफसर ने कहा कि घटना में दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने मीडिया से कहा, ‘‘दुख की बात यह है कि क्या दिल्ली है, क्या उत्तर प्रदेश है, जो आरोपित लोग हैं, उन्हें मेहमान बनाकर रखे हुए है। दिल्ली-उप्र पुलिस को अपने आप को बदलना होगा। जो बलात्कारी लोग हैं, उनमें इसी तरह से डर पैदा हो सकता है।’’ उन्नाव में महिला को जलाने के मामले में मायावती ने कहा- ‘‘उत्तर प्रदेश में कानून का नहीं जंगलराज है।’’