पश्चिमी राजस्थान में जोरदार रेतीला तूफान, गिरा 850 साल पुराने सोनार दुर्ग के अक्षय पोल का दरवाजा

0
133

जैसलमेर : राजस्थान में मौसम के मिजाज में अचानक आये बदलाव के चलते रविवार की शाम को पश्चिमी राजस्थान में जोरदार रेतीला तूफान आया. भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर स्थित जैसलमेर में आए इस तेज रेतीले तूफान के कारण यहां स्थित 850 साल पुराने सोनार दुर्ग के अक्षय पोल का दरवाजा गिर गया. रेतीले तूफान के कारण पूरा जैसलमेर शहर रेत के गुबार में ढक गया. इस तूफान के कारण घंटों तक आम जनजीवन अस्त व्यस्त रहा.

जैसलमेर में मौसम में यह बदलाव रविवार शाम को करीब 5 बजे आया. रेतीले धोरों में अचानक उठे इस रेतीले तूफान को देखकर एकबारगी लोग सहम गए. देखते ही देखते इस रेतीले गुबार ने स्वर्ण नगरी जैसलमेर को पूरी तरह से ढक लिया. इस दौरान हवाओं की स्पीड इतनी तेज थी कि सोनार किले का गोपा चौक स्थित अक्षय पोल के भारी दरवाजे का एक भाग टूट कर गिर गया. इतने भारी दरवाजे के गिरने से लोग भी अचंभित हो गए.

तेज अंधड़ के कारण चारों तरफ धूल ही धूल हो गई. घरों में रेत ही रेत भर गई. इससे गृहिणियों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ा. जिले के रामगढ़ इलाके में 33 केवी लाइन के 6 बिजली के खंभे भी टूटकर गिर गए. इससे इलाके में बिजली आपूतिज़् बाधित हो गई. वहीं रामगढ़ गांव में आंधी से काफी नुकसान हुआ है.