हफ्ते के दूसरे कारोबारी दिन भी शेयर बाजार मजबूत, सेंसेक्स 40 हजार के पार

0
55
Bombay Stock Exchange, India's oldest stock exchange, is seen September 18, 2003. Foreign fund inflows to India, a key driver of the share market's rise of over 22 percent this year, will not be much affected by a court ruling that has stalled the government's privatisation plans, fund managers said on Thursday. REUTERS/Sherwin Crasto SC/FA

नई दिल्ली। शेयर बाजार में इस हफ्ते लगातार दूसरे कारोबारी दिन में तेजी देखी जा रही है. बुधवार को सुबह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स पिछले कारोबारी सत्र के मुकाबले 122 अंकों की बढ़त के साथ 39,953 पर खुला. कारोबार के दौरान सेंसेक्स 40 हजार के महत्वपूर्ण आंकड़े के पार चला गया. सुबह 10.55 बजे सेंसेक्स 40,039 पर कारोबार कर रहा था.

पहली बार 40 हजार का आंकड़ा पार

नई सरकार द्वारा 5 जुलाई को पेश बजट के बाद सेंसेक्स ने पहली बार 40 हजार का आंकड़ा पार किया है. इसके पहले सेंसेक्स 4 जून, 2019 को 40,083 पर बंद हुआ था. इस साल 23 मई को लोकसभा चुनाव नतीजे के दिन सेंसेक्स ने कारोबार के दौरान पहली बार 40 हजार का ऐतिहासिक स्तर पार किया था, हालांकि यह बंद 40 हजार से नीचे हुआ था. इसके बाद 31 मई को भी सेंसेक्स ने कारोबार के दौरा 40 हजार का आंकड़ा पार किया था.

ये है ऐतिहासिक स्तर

इसके बाद 3 जून को सेंसेक्स 40,267 पर बंद हुआ था जो अब तक का ऐतिहासिक स्तर है. बुधवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 96 अंक की बढ़त के साथ 11,883.90 पर खुला. इसके पहले मंगलवार को शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी देखी गई थी. सोमवार को दिवाली-बलि प्रतिपदा के अवसर पर शेयर बाजार में कारोबार बंद था.

प्री-ओपनिंग सत्र में सेंसेक्स 40,000 से ऊपर

प्री-ओपनिंग सत्र में सेंसेक्स 40,000 से ऊपर पहुंच गया था. कारोबार के दौरान सुबह 9.45 तक सेंसेक्स 48 अंक चढ़कर 39,880 पर और निफ्टी 19.20 अंक चढ़कर 11,806.05 पर कारोबार कर रहा था. सेंसेक्स के 19 शेयर हरे निशान में दिख रहे थे. मजबूती वाले प्रमुख शेयरों में भारती एयरटेल, इन्फोसिस, एलऐंडटी शामिल हैं, जबकि नुकसान उठाने वाले शेयरों में टाटा मोटर्स, ओएनजीसी, महिंद्रा ऐंड महिंद्रा शामिल हैं. बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप में क्रमश 0.52 फीसदी और 0.36 फीसदी की तेजी आई है.

रुपये में सुस्ती देखी जा रही है, सुबह इसका डॉलर के मुकाबले कारोबार 6 पैसे की गिरावट के साथ 70.90 पर शुरू हुआ. मंगलवार को रुपया 70.84 पर बंद हुआ था.
गौरतलब है कि शेयर बाजारों में मंगलवार को तेजी दर्ज की गई थी. शेयर बाजार में मंगलवार को पूरे कारोबार के दौरान तेजी देखी गई. कारोबार के अंत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 581 अंकों की बढ़त के साथ 39,831.84 पर बंद हुआ. दूसरी तरफ, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 159.70 अंक की बढ़त के साथ 11,786.85 पर बंद हुआ.
कारोबार के दौरान सेंसेक्स के 24 शेयरों में तेजी आई, जबकि 4 में गिरावट आई. निफ्टी के 39 शेयरों तेजी, जबकि 11 में गिरावट देखी गई. बीएसई मिडकैप में 1.12 फीसदी और स्मॉलकैप में 0.55 फीसदी की तेजी आई.
टाटा मोटर्स (16.63 फीसदी), टाटा स्टील (7.09 फीसदी), यस बैंक (6.30 फीसदी), एक्सिस बैंक (4.06 फीसदी) व मारुति (4.01 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही।
मीडिया में ऐसी खबर है कि सरकार शेयर कारोबार से जुड़े टैक्सेज में भारी कटौती कर सकती है. इसको लेकर बाजार का सेंटिमेंट मजबूत होने लगा. खबरों में कहा गया है कि लांग टर्म कैपिटल गेन्स टैक्स, सिक्यूरिटीज ट्रांजैक्शन टैक्स और डिविडेंड डिस्ट्रब्यिूशन टैक्स की प्रधानमंत्री कार्यालय और वित्त मंत्रालय, नीति आयोग द्वारा समीक्षा की जा रही है और इनमें बदलाव किए जा सकते हैं.

इस हफ्ते किन संकेतों पर रखें नजर

भारतीय शेयर बाजार को इस कारोबारी सप्ताह के दौरान अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की बैठक में ब्याज दरों पर लिए जाने वाले फैसले का इंतजार रहेगा. इसके अलावा, सप्ताह के दौरान जारी होने वाले प्रमुख आर्थिक आंकड़ों से बाजार को दिशा मिलेगी. फेड की बैठक में ब्याज दर में कटौती को लेकर फैसले लिए जा सकते हैं, जिसका असर वैश्विक बाजार पर देखने को मिलेगा और भारतीय शेयर बाजार भी उससे प्रभावित रहेगा.
इस सप्ताह अक्टूबर महीने के फ्यूचर्स ऐंड ऑप्शन (एफएंडओ) सेगमेंट की समाप्ति पर अगले महीने के एफऐंडओ अनुबंधों में कारोबारी अपनी पोजीशन बनाएंगे जिससे शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है.
भारत के मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र के सितंबर महीने के आंकड़े भी गुरुवार को ही जारी होंगे. सप्ताह के आखिर में मार्केट मैन्युफैक्चरिंग सितंबर महीने के आंकड़े शुक्रवार को जारी होंगे. इन आंकड़ों का असर घरेलू शेयर बाजार पर देखने को मिलेगा.