इमरान के बुलावे पर पाकिस्तान जाना चाहते हैं सिद्धू, केंद्र और कैप्टन से मांगी इजाजत

0
95

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी के नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने विदेश मंत्री एस जयशंकर और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर से पाकिस्तान जाने की इजाजत मांगी है. इस संबंध में सिद्धू ने दोनों नेताओं को चिट्ठी लिखी है. सिद्धू पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होना चाहते हैं.

इमरान खान करतारपुर कॉरिडोर का 9 नवंबर को उद्घाटन करेंगे. इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पूर्व क्रिकेटर और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को विशेष न्योता भेजा था. सिद्धू के न्योते पर विदेश मंत्रालय ने कहा था कि पाकिस्तान जाने के लिए सिद्धू को राजनीतिक मंजूरी लेनी होगी.

अब सिद्धू को चार से पांच दिन के अंदर भारत सरकार से इस न्योते पर मंजूरी लेनी पड़ेगी. बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह और केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी 575 लोगों की उन लिस्ट में शामिल हैं जो भारत से करतारपुर जाने वाले पहले श्रद्धालु जत्थे में शामिल हैं. केंद्र सरकार ने 29 अक्टूबर को पाकिस्तान जाने वाले 575 श्रद्धालुओं की सूची जारी की थी.

इमरान के शपथ ग्रहण में भी पाकिस्तान गये थे सिद्धू

पिछले साल अगस्त में इमरान खान ने जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी, तो भी नवजोत सिंह सिद्धू इमरान के बुलावे पर पाकिस्तान गए थे. नवजोत का ये पाकिस्तान दौरा काफी विवादों में रहा था.

बाजवा को गले लगाने पर विवाद

पाकिस्तान गए नवजोत सिंह सिद्धू ने शपथ ग्रहण कार्यक्रम में पाकिस्तान के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा को गले लगाया था. सिद्धू के इस कदम पर हिन्दुस्तान में सियासी तूफान खड़ा हो गया था. बीजेपी ने इस मामले पर सिद्दू से तो सफाई मांगी ही थी, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी इस पर आपत्ति जताई थी.

बीजेपी ने कहा था कि सभी को पता है कि बाजवा भारत के जवानों की शहादत के लिए जिम्मेदार हैं, भारत में आतंकी हमलों के लिए जिम्मेदार हैं, ऐसे शख्स को गले लगाना कहां तक उचित है? सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू का पाक के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा को गले लगाना किसी भी हिन्दुस्तानी को अच्छा नहीं लगा. उन्होंने कहां कि एक पूर्व सैनिक होने के नाते उन्हें भी उनकी यह हरकत पसंद नहीं आई.