51 विधानसभा सीटों और दो लोकसभा सीटों पर उपचुनाव के नतीजे आज

0
52

महाराष्ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनावों के साथ ही अन्य 18 राज्यों की 51 सीटों पर उपचुनाव के वोटों की गिनती भी जल्द ही शुरू होने वाली है। इन सीटों में से करीब 30 सीटें बीजेपी और उसके सहयोगियों के पास है। वहीं 12 सीटें कांग्रेस और बाकी अन्य क्षेत्रीय पार्टियों के पास है। उपचुनाव पार्टियों के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई है क्योंकि परिणाम विधानसभा के गणित को आंशिक रूप से ही बदल पाएंगे। इसके परिणाम से पार्टियों में उत्साह बढ़ेगा। सोमवार को आयोजित हुए उपचुनाव में 57 फीसदी मतदान हुआ था। सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर उपचुनाव हुआ था।
गुजरात में छह, बिहार में पांच, असम में चार, हिमाचल प्रदेश में दो और तमिलनाडु में दो सीटों पर उपचुनाव हुए थे। जिन दो लोकसभा सीटों पर उपचुनाव हुआ था, उनमें से एक महाराष्ट्र की सतारा लोकसभा सीट और बिहार की समस्तीपुर लोकसभा सीट है। ये सीटें रामविलास पासवान की एलजेपी और शरद पवार की पार्टी एनसीपी के पास थीं।

यूपी की बात करें तो अब तक कई उपचुनाव में असफलता देख चुकी बीजेपी को इससे बड़ी उम्मीदें हैं। सत्ताधारी बीजेपी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए यह परीक्षा की तरह है। बीजेपी के पास यहां 403 विधानसभा सीटों में से 302 हैं। यहां 11 सीटों के लिए बीजेपी, बीएसपी, एसपी और कांग्रेस के बीच चौतरफा मुकाबला है। इन सीटों में से 8 सीटें पहले बीजेपी के पास थीं, एक सीट उसके सहयोगी दल अपना दल (सोनेलाल) के पास थी।

रामपुर और जलालपुर (आंबेडकरनगर) क्रमश: समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के पास थी। राज्य में सोमवार को 47.05 फीसदी मतदान हुआ था। राजस्थान में अगर बीजेपी और उसके सहयोगी आरएलपी से कांग्रेस दो सीटें छीनने में सफल हो जाती है तो वह विधानसभा में मजबूत स्थिति में आ जाएगी। यहां दो विधानसभा सीटों मंडावा और खींवसर के लिए उपचुनाव हुए थे।

सिक्किम के सीएम भी चुनावी समर में
सिक्किम में तीन सीटों के लिए उपचुनाव हुए थे, जिनमें से मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग (पोकलोक कामरांग विधानसभा) भी उम्मीदवारों में से एक हैं। यहां 32 विधानसभा सीटों में से सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (एसकेएम) के पास 18, बीजेपी के पास 10 हैं। कई अन्य के पार्टी छोड़ने के बाद सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) के पास अब सिर्फ एक विधायक बच गया है।

पूर्व फुटबॉलर बाइचुंग भूटिया भी मैदान में
भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान बाइचुंग भूटिया भी गंगटोक से हमरो सिक्किम पार्टी (एचएसपी) के टिकट पर चुनावी मैदान में हैं। गुजरात में बनासकांठा जिले के थराड में, पाटन के राधनपुर, मेहसाणा में खेरालु, अरवल्ली के बयाड में, अहमदाबाद के अमराइवाड़ी और महिसागर की लुनावाड़ा सीट पर उपचुनाव हुआ था। बीजेपी ने राधनपुर से पूर्व कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर को चुनाव मैदान में उतारा था। पंजाब के उपचुनाव में कांग्रेस की जीत एक तरह से मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की नीतियों का समर्थन होगी। राज्य में फगवाड़ा (आरक्षित), जलालाबाद, दाखा और मुकेरियां विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुए थे।

बिहार में एक लोकसभा और 5 विधानसभा सीटों पर वोटिंग
अरुणाचल प्रदेश में खोंसा पश्चिम सीट पर, छत्तीसगढ़ में नक्सल प्रभावित चित्रकोट सीट पर, तेलंगाना में हुजुरनगर सीट पर, मध्य प्रदेश की झाबुआ और मेघालय की शेल्ला सीट पर उपचुनाव हुआ था। बिहार में लोकसभा की एक सीट समस्तीपुर और विधानसभा की पांच सीटों किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर सीट पर चुनाव हुआ था। बिहार में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और इस उपचुनाव का प्रदर्शन नीतीश कुमार सरकार की नीतियों को लेकर जनता की राय दिखा सकता है।

तमिलनाडु में दो, केरल में 5 सीटों के नतीजे
तमिलनाडु में विल्लुपुरम जिले के विक्रवांदी और तिरुनेलवेल्ली जिले के नांगुनेरी विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुआ था। यहां मुकाबला अन्नाद्रमुक और द्रमुक के बीच है। केरल में पांच विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुआ।