राहुल गांधी ने केन्द्र सरकार पर वार, कहा – प्रवासी मजदूरों को कर्ज नहीं पैसे की आवश्यकता है

0
112

नई दिल्ली : देश में कोरोना वायरस के कारण पैदा हुए हालातों पर शनिवार को कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने वीडियो कॉन्फे्रंसिंग के माध्यम से मीडिया से बात की। इस दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपए के विशेष आर्थिक पैकेज को लेकर केन्द्र सरकार पर तंज कसा है। केरल की वायनाड सीट से लोकसभा सांसद राहुल गांधी ने इस दौरान कहा कि जब बच्चा रोता है तो मां उसे कर्ज नहीं देती है, ट्रीट देती है। उन्होंने कहा कि सडक़ पर चलने वाले प्रवासी मजदूरों को कर्ज नहीं पैसे की आवश्यकता है, इसलिए केन्द्र सरकार को साहूकार की तरह काम नहीं करना चाहिए।

राहुल गांधी ने इस दौरान नरेन्द्र मोदी सरकार को रोजगार के मुद्दे पर एक राष्ट्रीय रणनीति बनानी की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि मेरे हिसाब से केन्द्र सरकार को तीन टर्म (शॉट, मिड और लॉन्ग) में काम करना चाहिए। गौरतलब है कि कोरोना वायरस के कारण देशवासियों को कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। देश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या भी अब 90 हजार के पार जा चुकी है।