जॉर्ज फ्लॉयड मामले में प्रदर्शनकारियों के आक्रोश ने लिया उग्र रूप, अमेरिका के 40 शहरों में लगा कर्फ्यू

0
192

अमेरिका : कोरोना के कहर से जूझ रहा अमेरिका अब रंगभेद की नफरत की भी आग में झुलस उठा है।रंगभेद के चलते उपजी हिंसा के बाद अमेरिका में हालात बेकाबू हो गए हैं। अश्‍वेत व्‍यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत के बाद देश भर में आक्रोश भड़क उठा है। हजारों की संख्‍या में लोग सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। यह प्रदर्शन उग्र रूप धारण कर चुका है। राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को इस मामले में जनता के भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। हाल ये है कि देश के 40 शहरों में कर्फ्यू लगाया जा चुका है और सभी सरकारी इमारतों को बंद रखे जाने का आदेश दे दिया गया है।

जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के पांचवें दिन अमेरिका में हालात बेकाबू हो गए हैं। हिंसा की आग व्हाइट हाउस तक पहुंच गई। अमेरिकी राष्ट्रपति के निवास के करीब तक पहुंचे प्रदर्शनकारियों ने जमकर आगजनी की। इस दौरान कुछ लोगों ने इमारतों पर फहरा रहे अमेरिकी राष्ट्रीय ध्वज को जहां आग के हवाले कर दिया, वहीं सड़कों पर पेड़ गिराकर आवागमन बाधित कर दिया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले भी छोड़े। देश भर में चार हजार से अधिक लोगों को गिरफ्तार लिया गया है।

हिंसक घटनाओं में अब तक पांच लोगों की जान जा चुकी है। राष्ट्रपति ट्रंप ने सभी राज्यों के गवर्नरों को जमकर फटकार लगाई है। शुक्रवार रात व्हाइट हाउस के बाहर प्रदर्शनकारियों के जमा होने पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कुछ समय के लिए एक भूमिगत बंकर में ले जाया गया था। राष्ट्रपति ट्रंप ने बंकर में लगभग एक घंटा बिताया और उसके बाद उन्हें ऊपर लाया गया। अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप और उनके बेटे बैरन को भी बंकर में ले जाया गया था।

प्रदर्शनकारियों द्वारा की जा रही हिंसा और तोड़फोड़ को देखते हुए वाशिंगटन डीसी समेत देश के 40 शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। वर्जीनिया में आपातकाल के साथ ही कैलिफोर्निया में सोमवार तक सभी सरकारी इमारतों को बंद रखने का आदेश दिया गया। स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए 15 शहरों में पांच हजार नेशनल गार्ड के जवान तैनात हैं। दो हजार अतिरिक्त जवानों को अलर्ट पर रखा गया है।

हॉलीवुड स्टूडियो डिज्नी, वार्नर ब्रदर्स, पैरामाउंट, नेटफ्लिक्स, अमेजन और द एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स ने अश्वेत समुदाय के समर्थन में एक बयान जारी किया है। डिज्नी ने एक बयान में कहा,”हम नस्लवाद के खिलाफ हैं। हमें इस समय एकजुट होना चाहिए और नस्लवाद के खिलाफ बोलना चाहिए।” द एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स ने कहा कि जार्ज फ्लॉयड की मौत किसी को भी स्वीकार्य नहीं है। वार्नर ब्रदर्स ने एक ट्वीट में कहा, “हम अपने अश्वेत सहयोगियों और प्रशंसकों के साथ खड़े हैं। अमेजन ने कहा कि अमेरिका में अश्वेत लोगों के खिलाफ हो रहे अत्याचारों को रोकने की जरूरत है।

गूगल ने रविवार को नस्ली समानता का समर्थन करते हुए अपने वेबसाइट के होमपेज पर एक संदेश प्रकाशित किया। कंपनी के सीईओ सुंदर पिचई ने एक ट्वीट में कहा, “आज यूएस गूगल और यूट्यूब अपने होमपेज पर जार्ज फ्लॉयड, ब्रेओना टेलर, अहमद अरबरी की याद में और नस्ली समानता के पक्ष में एकजुटता प्रदर्शित करता है। इस तरह की घटनाओं से दुखी, क्रोधित और भय महसूस करने वालों को हम यह भरोसा देते हैं कि वे अकेले नहीं हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here