प्रियंका गांधी ने दी नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी को बधाई, कहा-आशा है NYAY एक दिन हकीकत बनेगा

0
72

नई दिल्ली. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अर्थशास्त्र में इस साल का नोबेल पुरस्कार पाने वाले भारतीय मूल के अमेरिकी अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को बधाई दी है. प्रियंका ने ये भी बताया कि अर्थशास्त्री बनर्जी ने कांग्रेस को न्यूनतम आय योजना (NYAY) पर सलाह भी दी थी. लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान कांग्रेस ने इस NYAY स्कीम का ऐलान किया था. प्रियंका ने कहा कि उम्मीद है कि न्याय एक दिन हकीकत बनेगा.

बता दें कि राहुल गांधी ने बतौर कांग्रेस अध्यक्ष वोटरों को लुभाने के लिए ऐलान किया था कि चुनाव बाद अगर यूपीए सरकार आई, तो गरीब परिवारों को हर महीने 6 हजार रुपये मिलेंगे. हालांकि, मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के प्रोफेसर अभिजीत बनर्जी ने कांग्रेस को सलाह दी थी कि NYAY स्‍कीम के तहत 2,500 रुपये से 3,000 रुपये तक देना राजकोषीय अनुशासन के दायरे में होगा.

क्या है प्रियंका का ट्वीट?

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, ‘गरीबी हटाने को लेकर अध्ययन करने वाले हिंदुस्तानी मूल के प्रो. अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार मिलने पर बहुत बधाई. प्रोफेसर बनर्जी ने कांग्रेस घोषणा पत्र की क्रांतिकारी न्याय योजना पर भी सलाह दी थी. आशा है कि न्याय योजना एक दिन वास्तविकता बनेगी.’

प्रियंका गांधी से पहले राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर अभिजीत बनर्जी को बधाई दी थी.

‘एक्सपेरिमेंट अप्रोच’ के लिए मिला नोबेल
भारतीय मूल के अमेरीकी अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी, उनकी पत्नी इश्तर डूफलो और माइकल क्रेमर को संयुक्त रूप से इस साल अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार दिया गया है. इन तीनों को दुनिया भर में गरीबी दूर करने के लिए ‘एक्सपेरिमेंट अप्रोच’ दिया. माना जा रहा है कि बीते दो दशक के दौरान इस अप्रोच का सबसे अहम योगदान रहा. दुनिया भर में गरीबों की आबादी 70 करोड़ के आसपास मानी जाती है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, ‘एक्सपेरिमेंट अप्रोच’ से दुनिया के करीब 14 देश गरीबी से बाहर आए हैं.

न्याय स्कीम पर अभिजीत बनर्जी ने क्या कहा था?
लोकसभा चुनाव के दौरान दिए इंटरव्‍यू में अभिजीत बनर्जी ने NYAY स्कीम पर बात की थी. उन्होंने कहा था, ‘न्‍याय स्‍कीम को लेकर मुझसे कांग्रेस पार्टी ने सलाह ली थी. मैंने उन्‍हें बताया था कि न्यूनतम आय के तहत हर महीने 2,500 रुपये देना सही रहेगा, जो राजकोषीय अनुशासन के दायरे में है. इस पर सालाना 1.50 लाख करोड़ रुपये खर्च का अनुमान लगाया था.’ रिपोर्ट के मुताबिक, अभिजीत बनर्जी ने बताया, ‘लोकसभा चुनाव की वजह से कांग्रेस की ओर से इसे सीधा दोगुना कर दिया गया.’

क्या है कांग्रेस की न्याय स्कीम?
न्यूनतम आय योजना (NYAY) या मिनिमम इनकम सपोर्ट प्रोग्राम (MISP) एक ऐसी योजना है, जिसके तहत कांग्रेस देश के सबसे गरीब लोगों को आर्थिक न्याय देने का वादा कर रही है. इस स्कीम के तहत गरीबों को हर साल 72,000 रुपये (6 हजार प्रति महीना) दिए जाएंगे. कांग्रेस का कहना है कि अगर चुनाव बाद केंद्रे में यूपीए सरकार आती, तो भारत के 20 फीसदी सबसे गरीब लोगों यानी 5 करोड़ परिवारों को इस स्कीम का लाभ मिलता.