प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी – कोरोनावारियर्स के खिलाफ बत्तमीजी बर्दाश्त नहीं की जाएगी

0
183

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को बेंगलुरू स्थित राजीव गांधी यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ एंड साइंस के सिल्वर जुबली कार्यक्रम को संबोधित किया. कोरोना संकट के कारण वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीएम मोदी ने कहा कि 25 साल का मतलब राजीव गांधी स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय अपने युवावस्था में है. यह उम्र और भी बड़ा सोचने और बेहतर करने की है. उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि विश्वविद्यालय आने वाले समय में उत्कृष्टता की नई ऊंचाइयों को छूता रहेगा.

पीएम मोदी ने कहा कि देश में हेल्थ केयर और मेडिकल एजुकेशन में काफी काम हुआ है और यह आगे भी जारी रहेगा. उन्होंने कोरोना संकट का जिक्र करते हुए कहा कि कोविड-19 वायरस अदृश्य दुश्मन है लेकिन हमारे अपराजेय फ्रंटलाइन वर्कर्स उसे मात देंगे. उन्होंने डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों को बिना वर्दी के सैनिक बताते हुए उम्मीद जताई कि कोरोना के खिलाफ जंग में भारत जीतेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दूसरे विश्व युद्ध के बाद आज सबसे बड़ा संकट आया है, जैसे विश्व युद्ध के बाद दुनिया बदल गई. वैसे ही कोरोना के बाद दुनिया पूरी तरह से बदल जाएगी. उन्होंने कहा कि पहले वैश्विकरण को लेकर आर्थिक मसले पर चर्चा होती थी, लेकिन अब मानवता के आधार पर चर्चा करना जरूरी होगा. स्वास्थ्य के मामले में भारत ने पिछले 6 साल में बड़े फैसले लिए हैं, हम चार पिलर पर काम कर रहे हैं.

संबोधन में पीएम मोदी बोले कि आज आयुष्मान भारत की वजह से देश में एक करोड़ से अधिक लोगों को राहत पहुंची है और उनका मुफ्त में इलाज हुआ है. हमारा लक्ष्य है कि देश में वैश्विक लेवल की मेडिकल सुविधाएं शुरू की जाएं, इसके अलावा हर जिले में मेडिकल कॉलेज की स्थापना करने का लक्ष्य रखा गया है. पीएम ने कहा कि मिशन इंद्रधनुष, आयुष्मान भारत समेत कई अहम योजनाओं ने देश के स्वास्थ्य सिस्टम में एक नई जान फूंकी है.मेक इन इंडिया के तहत स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि आज देश में पीपीई किट, एन-95 मास्क बन चुके हैं और सब मेड इन इंडिया हैं. देश में आरोग्य सेतु ऐप बनाई गई है और अबतक 12 करोड़ लोग इसे डाउनलोड कर चुके हैं.

देश में कोरोना से जंग में जुटे स्वास्थ्यकर्मियों के साथ हो रही घटनाओं पर पीएम मोदी ने कहा है कि ये बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, जो भी ऐसा करेगा उसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा.उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कोरोना वॉरियर्स की भूमिका अहम है, दुनिया देख रही है कि भारत किस प्रकार इस खतरनाक वायरस से युद्ध कर रहा है. उन्होंने कहा कि वायरस अदृश्य हो सकता है लेकिन हमारे कोरोना योद्धा अजेय हैं. डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी बिना वर्दी वाले सैनिक हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here