मोदी ने दी मंत्रियों को नसीहत, अयोध्या पर अनावश्यक बयानबाजी से बचें

0
51

अयोध्या पर उच्चतम न्यायालय का फैसला आने से पहले बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों से इस मुद्दे पर अनावश्यक बयान देने से बचने और देश में सौहार्द बनाए रखने को कहा। सूत्रों ने यह जानकारी दी।

सरकार के सूत्रों ने बताया कि यहां मंत्रिपरिषद की एक बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि उच्चतम न्यायालय का फैसला आने की उम्मीद है इसलिए देश में सौहार्द बनाए रखना हर किसी की जिम्मेदारी है। मोदी ने इस मुद्दे पर अनावश्यक बयानबाजी से बचने को कहा। गौरतलब है कि प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई 17 नवंबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि उच्चतम न्यायालय अयोध्या मामले में इससे पहले अपना फैसला सुना सकता है।

विश्व हिंदू परिषद के एक शीर्ष पदाधिकारी ने बुधवार को कहा कि अयोध्या विवाद के मुकदमे में उच्चतम न्यायालय के संभावित फैसले के मद्देनजर लोगों से हर स्थिति में संयम बरतने की अपील की जा रही है। विहिप के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे ने कहा, अयोध्या मामले में उच्चतम न्यायालय के फैसले से पहले देश में अमन-चैन का माहौल है।

कांग्रेस ने बुलाई सीडब्लूसी की बैठक
वहीं, अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से ठीक पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्लूसी) की बैठक बुलाई है। यह बैठक दस नवंबर को होने की संभावना है। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि बैठक में अयोघ्या मामले पर अदालत के फैसले को लेकर विचार किया जाएगा।