पहले जत्थे में मनमोहन और अमरिंदर भी शामिल, भारत ने 575 श्रद्धालुओं की सूची पाकिस्तान को सौंपी

0
44

नई दिल्ली। करतारपुर काॅरिडोर से पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने वाले पहले भारतीय जत्थे में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह शामिल होंगे। केंद्र सरकार के सूत्रों ने बताया कि पहले जत्थे में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और पंजाब के सांसद-विधायक भी शामिल हैं। भारत ने मंगलवार को गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने वाले 575 लोगों की सूची पाकिस्तान को सौंपी।
गुरुनानक देव की 550वीं जयंती के मौके पर भारत-पाकिस्तान ने श्रद्धालुओं के लिए कॉरिडोर का निर्माण किया है। भारत ने सीमा से गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक तक कॉरिडोर बनाया है। 24 अक्टूबर को दोनों देशों ने करतारपुर कॉरिडोर के समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को भारत की तरफ कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे। इसी दिन पहला जत्था करतारपुर रवाना होगा। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह जत्थे की अगुआई करेंगे। गुरुद्वारे में कार्यक्रम के बाद जत्था वापस पंजाब आ जाएगा। गुरुनानक देव ने जीवन के अंतिम क्षण करतारपुर में ही गुजारे थे।

ननकाना साहिब में नगर कीर्तन की इजाजत नहीं मिली

इस बीच, खबर मिली है कि पाकिस्तान सरकार ने एसजीपीसी और डीएसजीएमसी के साथ पंजाब सरकार के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल को ननकाना साहिब में अखंड पाठ और नगर कीर्तन की इजाजत देने से इनकार कर दिया। जालंधर के सांसद चैधरी संतोख सिंह और सेंट्रल हलके के विधायक राजिंदर बेरी सहित पंजाब सरकार के मंत्री, विधायक, नेता विपक्ष, ब्यूरोक्रेट्स सहित 31 लोगों के नाम जत्थे में शामिल थे।