महाराष्ट्र: BJP विधायक दल की आज बैठक, फडणवीस चुने जाएंगे नेता

0
75

मुंबई. महाराष्ट्र में सत्ता के लिए घमासान लगातार जारी है. एक साथ चुनाव लड़ने वाली बीजेपी और शिवसेना के बीच सरकार बनाने को लेकर खींचतान खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. बीते 24 अक्टूबर को चुनाव नतीजे आने के छह दिन बाद भी राज्य में नई सरकार का गठन नहीं हुआ है. बीजेपी की सहयोगी शिवसेना 50-50 के फॉर्मूले पर अड़ी है.

बुधवार को बीजेपी विधायक दल की बैठक
बुधवार को मुंबई में बीजेपी विधायक दल की बैठक बुलाई गई है. बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पार्टी के उपाध्यक्ष अविनाश खन्ना को विधायक दल की बैठक के लिए केंद्रीय पर्यवेक्षक बनाया है. इस बैठक में देवेंद्र फडणवीस को विधायक दल का नेता चुने जाने की संभावना है.

सोनिया गांधी ने पवार से की बातचीत
इससे पहले सूत्रों से मिली जानकारी की मुताबिक मंगलवार शाम कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) सुप्रीमो शरद पवार के बीच फोन पर बातचीत हुई है. महाराष्ट्र में शिवसेना के दूसरे विकल्प खुले रहने के उद्धव ठाकरे के बयान के बाद पवार और सोनिया के बीच बातचीत के राजनीति मायने निकाले जा रहे हैं. इस बीच महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा है कि उनकी पार्टी राज्य में सरकार गठन के लिये शिवसेना से कोई ‘ठोस’ प्रस्ताव मिलने पर ‘विचार’ करेगी.

बीजेपी VS शिवसेना
बता दें कि शिवसेना और बीजेपी ने 21 अक्टूबर को हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव गठबंधन के तहत लड़ा था. नतीजों में बीजेपी 105 सीटें जीतकर राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनी थी हालांकि वो बहुमत से काफी दूर रह गई थी. वहीं शिवसेना ने 56 सीटों पर अपना कब्जा जमाया था. इस तरह चुनाव नतीजों में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत मिला लेकिन नई सरकार के गठन के लिये दोनों दल अपने रूख में नरमी के संकेत नहीं दे रहे हैं. शिवसेना ढाई साल के लिये मुख्यमंत्री पद मांग रही है, लेकिन बीजेपी ने इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया है.

अमित शाह और उद्धव ठाकरे सफॉर्मूले को देंगे अंतिम रूप
महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर चल रही तनातनी के बीच राज्य बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा है कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र में अगली सरकार के गठन के लिए सत्ता साझेदारी के 50:50 फॉर्मूले को अंतिम रूप देंगे.