पॉलिथीन को लेकर महाभारत

0
76

भुवनेश्वर.- राज्य में २ अक्टूबर से पॉलिथीन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। पॉलिथीन सीट, पॉलिथीन की थैली, एकबार इस्तेमाल किये जाने वाले प्लास्टिक का इस्तेमाल को गैरकानूनी बता दिया गया है। फिर भी राज्य में पालिथीन व प्लास्टिक का इस्तेमाल पूरी तरह बन्द नहीं हो रहा है। राज्य सरकार इसके खिलाफ सख्ती से पेश आ रही है। आज से सरकारी अधिकारी विभिन्न दुकानों पर छापेमारी शुरू की हैं। लेकिन दुकानदार इसका जमकर विरोध कर रहे हंै। स्थानीय रसुलगड़ चौक पर सब्जी बेचने वाले एक दुकानदार श्यामसुन्दर बेहेरा के मुताबिक अब तक तो पालिथीन का कोई ठोस विकल्प नहीं निकल पाया है। कागज के ठुंगे में क्या कोई सब्जी भरकर घर ले जा सकता है। ग्राहक तो घर से थैला लेकर आ नहीं रहे हैं। कागज की ठुंगा में एक तो सब्जी भरकर नहीं दी जा सकती है, दूसरे में एक कागज ठुंगा के लिए हमें तीन रूपये तक खर्च करना पड़ता है। यदी हम पॉलिथीन देने से इनकार कर देंगे तो ग्राहक भी सामान लेने से ना बोल देगा। फिर हम व्यापार कैसे करेंगे?
आज कटक शहर के नूआबाजार इलाके में कटक नगर निगम(सीएमसी) की ओर से पालिथीन का सर्च किये जाने के समय भारी तनाव पैदा हो गया। स्थानीय दुकानदार व सीएमसी के अधिकारियों के बीच कहासुनी हो जाने के बाद एक दुकानदार ने सीएमसी अधिकारियों को दुकान में भर्ती करके बाहर से सटर गिरा दिया। सूचना मिलने के बाद चाउलियागंज थाने के पुलिस अधिकारी मौके पर पहुचकर एनफोर्समेंट टीम के अधिकारियों को दुकान से निकाला है। सीएमसी अधिकारियों के मुताविक मौके पर से एक ट्रक पलिथीन जब्त की गई है। जिसका दाम १० लाख रूपये हैं। इसमें दो दुकानदारों को अरेस्ट किया गया है व ५० हजार रूपये का जुर्माना लगाया गया है।