अयोध्या में लगेगी भगवान राम की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा, 251 मीटर होगी ऊंचाई

0
54

अयोध्या। अयोध्या मामले में फैसला आने से पहले ही प्रदेश कैबिनेट ने रामनगरी के समग्र पर्यटन विकास प्रोजेक्ट को रफ्तार देने के लिए शुक्रवार को 447.46 करोड़ रुपये मंजूर कर लिए। इस रकम से सदर तहसील अंतर्गत मीरापुर में 61.3807 हेक्टेयर जमीन खरीदी जाएगी।

सरयू किनारे इसी जमीन पर भगवान राम की 251 मीटर ऊंची प्रतिमा की स्थापना से संबधित प्रोजेक्ट आकार लेगा। प्रतिमा की स्थापना कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) से जुटाए गए बजट से की जाएगी।

ऊर्जा मंत्री एवं प्रदेश सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कैबिनेट के फैसले की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चिह्नित जमीन के मृदा परीक्षण, डीपीआर आदि कार्यों के लिए 200 करोड़ की व्यवस्था प्रस्तावित है। चालू वित्त वर्ष के बजट में इसके लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। कैबिनेट ने इस प्रोजेक्ट से संबंधित आगे की किसी अन्य निर्णय के लिए मुख्यमंत्री को अधिकृत कर दिया है।
उन्होंने बताया कि अयोध्या के डीएम ने समग्र पर्यटन विकास, सौंदर्यीकरण व भगवान राम की प्रतिमा और उन पर आधारित डिजिटल म्यूजियम, इंटरप्रेटेशन सेंटर, लाइब्रेरी, पार्किंग, फूड प्लाजा, लैंड स्केपिंग समेत अन्य पर्यटक सुविधाओं के विकास के लिए मीरापुर में जमीन खरीदने का प्रस्ताव दिया था।

विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा होगी

सरयू तट पर प्रस्तावित भगवान राम की मूर्ति विश्व की सबसे ऊंची मूर्ति होगी। इसकी ऊंचाई 251 मीटर होगी। वर्तमान में अहमदाबाद स्थित सरदार पटेल की 183 मीटर ऊंची प्रतिमा विश्व में सबसे ऊंची प्रतिमा है। चीन में स्थापित गौतम बुद्ध की प्रतिमा 128 मीटर, न्यूयार्क में स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी 93 मीटर ऊंची है। मुंबई में निर्माणाधीन छत्रपति शिवाजी महराज की प्रतिमा की ऊंचाई 212 मीटर है।