हरियाणा में केजरीवाल को झटका, आप हो रही साफ

0
35

नई दिल्ली। हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी ने मजबूत उपस्थिति का दावा किया था। हालांकि, अभी तक के चुनाव नतीजे केजरीवाल के दिल्ली से बाहर पैर जमाने की महत्वाकांक्षा पर पानी फेर सकता है। सुबह 11 बजे तक के रुझानों में आम आदमी किसी सीट पर न तो आगे चल रही है और न ही हरियाणा में कोई उपस्थिति दर्ज करती दिख रही है।

हरियाणा के आंकड़ों से आप सरकार होगी निराश
सुबह 11.15 बजे तक के चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार, आम आदमी पार्टी को सिर्फ 0.45% वोट ही मिले। इससे पहले लोकसभा चुनावों में भी पार्टी को मुंह की खानी पड़ी थी। दिल्ली विधानसभा में बंपर बहुमत के साथ सत्ता में आनेवाली पार्टी दिल्ली में एक भी लोकसभा सीट पर जीत दर्ज नहीं कर सकी।

केजरीवाल के घरेलू राज्य में बेदम हुई आप
दिल्ली से सटे हरियाणा में आम आदमी पार्टी अपनी उपस्थिति दर्ज कराने की कोशिश लगातार कर रही है। हरियाणा सीएम अरविंद केजरीवाल का गृह राज्य भी है। प्रदेश की कुल 90 में से 46 विधानसभा सीटों पर आप ने उम्मीदवार उतारे, लेकिन जीत किसी को मिलती नहीं दिख रही। हालांकि, पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करने में न तो सीएम केजरीवाल ने कोई ज्यादा उत्साह दिखाया और न ही पार्टी के किसी अन्य वरिष्ठ नेता ने।

प्रदेश में दुष्यंत चौटाला बन सकते हैं किंगमेकर

हरियाणा विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती जारी है। रुझानों को देखकर जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के दुष्‍यंत चौटाला ने त्रिशंकु विधानसभा की उम्‍मीद जताई है। दुष्‍यंत ने कहा, ‘न तो बीजेपी और न ही कांग्रेस 40 सीटों को पार कर पाएगी। सत्‍ता की चाबी जेजेपी के पास रहेगी। शुरुआती नतीजों को देखकर हरियाणा के जींद में मीडिया से बात करते हुए दुष्‍यंत ने कहा, ‘हरियाणा की जनता का प्‍यार मिल रहा है। नतीजे बदलाव की निशानी हैं। बीजेपी के लिए 75 पार तो फेल हो गया अब यमुना पार करने की बारी है।’