कमलेश तिवारी हत्याकांड: अब तक तीन लोग गिरफ्तार, 7 हिरासत में

0
84

लखऩऊ: कमलेश तिवारी हत्याकांड में गिरफ्तारियों का सिलसिला शुरू हो गया है. गुजरात एटीएस ने तीन लोगों शमीम पठान, फैजान पठान ओर मोहसिन शेख को गिरफ्तार किया है साथ ही 7 संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है. पुलिस ने दो मौलानाओं अनवारुल हक और मुफ्ती नईम कासमी को गिरफ्तार किया है. इनमें से दो लोगों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया. रामपुर-मुरादाबाद पुलिस ने पुलिस ने गोरखपुर देहरादून एक्सप्रेस ट्रेन को आउटर पर रुकवाकर पांच लोगों को हिरासत में लिया है. कमलेश तिवारी की हत्या की साजिश सूरत में रचे जाने का शक है.

कमलेश की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक उनपर चाकू से 13 वार किए गए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक कमलेश को बायीं तरफ 8, दाईं तरफ 2 और पीछे की तरफ 3 बार चाकू मारे गए है. एक गोली जो जबड़े से मारी गयी और मुंह से चीरते हुए पीठ से निकली है. सूरत के उधना इलाके में स्थित मिठाई की दुकान धरती स्वीट्स में मिठाई खरीदते 3 संदिग्ध सीसीटीवी में कैद हुए हैं. उनकी तलाश की जा रही है. अहमदाबाद एटीएस और सूरत क्राइम ब्रांच मामले की जांच में लगी हुई है.

इस मामले में कई तरह की बातें सामने आ रही हैं. कमलेश के भतीजे ने कहा है कि बीजेपी नेता शिवकुमार गुप्ता से मंदिर की जमीन को लेकर विवाद चल रहा था, दस दिन पहले उन्होंने कमलेश को जान से मारने की धमकी दी थी. वहीं कमलेश की पत्नी का कहना है कि बीजेपी नेता शिवकुमार गुप्ता से रामजानकी मंदिर ट्रस्ट को लेकर विवाद चल रहा था. जानकारी के मुताबिक दो हमलावार थे, उन्होंने पहले कमरे में चाय पी. वो अपने साथ मिठाई के डिब्बे में बंदूक और चाकू लेकर पहुंचे थे. एक ने गला रेता और दूसरे ने गोली मार दी. कमलेश पर चाकू और बंदूक दोनों से वार किया गया.

योगी आदित्यनाथ ने एसआईटी का गठन किया है. एसआईटी में लखनऊ के आईजी एसके भगत, लखनऊ के एसपी क्राइम दिनेश पूरी और एसटीएफ के डिप्टी एसपी पीके मिश्रा शामिल हैं. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कमलेश तिवारी हत्याकांड में प्रमुख सचिव गृह और डीजीपी से रिपोर्ट भी मांगी है.

कमलेश तिवारी हत्याकांड: भतीजे का आरोप- बीजेपी नेता शिवकुमार गुप्ता से चल रहा था विवाद, दी थी जान से मारने की धमकी