शाहीन बाग में धरनास्थल पर जाएंगे वार्ताकार संजय हेगड़े, रास्ता तलाशने की कोशिश

0
25

सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त वार्ताकार संजय हेगड़े मंगलवार को शाहीन बाग जा सकते हैं. उन्होंने सोमवार को कहा कि अगर ज्यादा जरूरी हुआ तो मंगलवार को अनौपचारिक तौर पर शाहीन बाग में धरनास्थल पर जाएंगे. इस दौरान प्रदर्शनकारियों से अनौपचारिक बातें ही होंगी. संजय हेगड़े ने कहा कि वार्ता के अवसर पर सभी मुद्दों, विकल्पों और संभावनाओं पर खुलकर बात करने के लिए वो पूरा दम लगाएंगे, जिससे इस मामले का सर्वमान्य हल निकल सके.

वहीं, उन्होंने बताया कि वह एक और वार्ताकार साधना रामचंद्रन के साथ भी बुधवार को शाहीन बाग जाएंगे. दरअसल, साधना रामचंद्रन मंगलवार को दिल्ली में नहीं होंगी. लिहाजा औपचारिक बातचीत शुरू नहीं हो पाएगी. उन्होंने कहा कि औपचारिक वार्ता सबकी मौजूदगी में होगी, जो सम्भवतः बुधवार को होगी.

बता दें कि दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के खिलाफ पिछले दो महीने से प्रदर्शन जारी है. सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान अदालत ने प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए एक वार्ताकार नियुक्त किया. ये वार्ताकार हैं वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े. कोर्ट ने वकील साधना रामचंद्रन और वजहत हबीबुल्लाह को भी वार्ताकार बनाया है. अदालत ने दिल्ली सरकार, दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार से प्रदर्शनकारियों को हटाने के ऑप्शन पर चर्चा करने और उनसे बात करने को कहा. वकालत का लंबा अनुभव रखने वाले संजय हेगड़े, साधना रामचंद्रन और पूर्व आईएएस वजाहत हबीबुल्लाह सरकार और प्रदर्शनकारियों के बीच पुल का काम करेंगे.

कौन हैं संजय हेगड़े
संजय हेगड़े सुप्रीम कोर्ट में वरिष्ठ वकील हैं. वो हाल ही में अपने एक ट्वीट से चर्चा में आए थे. उनके विवादित ट्वीट के कारण उनका अकाउंट भी कुछ दिनों के लिए निलंबित कर दिया गया था. इसे लेकर उन्होंने नाराजगी भी जताई थी. ट्विटर पर उनके अकाउंट को फिर से रीस्टोर करने के लिए एक अभियान भी चला था.