खेती के लिए 6000 रुपए चाहिए तो 30 नवंबर तक जरूर करें ये काम

0
42

नई दिल्ली. मोदी सरकार ने पीएम-किसान सम्मान निधि स्कीम की किश्त पाने के लिए आधार नंबर को लिंक करवाने की अंतिम तारीख अब नजदीक आ रही है. अगर किसी ने इसे लिंक करवाने में देरी की तो उसके खाते में 6000 रुपए नहीं आएंगे. इसके लिए मोदी सरकार ने 30 नवंबर 2019 की तारीख तय की है. अगर आपने इस दौरान ऐसा नहीं किया तो खेती-किसानी के लिए 6000 रुपए की मदद नहीं मिलेगी. हालांकि, जम्मू-कश्मीर , लद्दाख, असम और मेघालय के किसानों को 31 मार्च 2020 तक यह मौका दिया गया है.

कितने किसानों को मिल चुका हैं पैसा – कृषि मंत्रालय के मुताबिक देश में 14.5 करोड़ किसान परिवार हैं. मोदी सरकार ने सभी किसानों को यह पैसा देने का प्लान बनाया है. इसके तहत करीब 87 हजार करोड़ रुपए खर्च किए जाने हैं. अब तक 7.63 करोड़ किसानों को इसका फायदा मिल चुका है. इसमें से सिर्फ 3.69 करोड़ लोगों को तीसरी किश्त मिली है.

कुल मिलाकर अभी करीब 7 करोड़ किसान इसका लाभ लेने वालों की लाइन में खड़े हैं. कागजों की गड़बड़ी और आधार की कमी की वजह से काफी लोगों को पैसा नहीं मिल सका है. ऐसे में जिसे पैसा नहीं मिला है वे तय समय में अपना आधार लिंक करवा ले. वरना लाभ नहीं मिलेगा.

कोई भी किसान कर सकता है रजिस्ट्रेशन
यदि आपने भी इस स्कीम का लाभ लेने के लिए आवेदन दिया है और अब तक बैंक अकाउंट में पैसा नहीं आया है तो उसका स्टेटस जानना बहुत आसान हो गया है. केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने बताया कि पीएम किसान पोर्टल पर जाकर कोई भी किसान भाई अपना आधार, मोबाइल और बैंक खाता नंबर दर्ज करके इसके स्टेटस की जानकारी ले सकता है. चौधरी का कहना है कि जैसे-जैसे राज्यों से लिस्ट आ रही है उसके हिसाब से स्कीम का पैसा जा रहा है.