दिल्ली में पहला टी-20 आज, बांग्लादेश को हल्के में नहीं आंक रहा भारत

0
121

नई दिल्ली। टीम इंडिया टेस्ट में नंबर एक और वन डे में नंबर दो पर है। मगर टी-20 क्रिकेट का ऐसा संस्करण है जहां टीम इंडिया का दबदबा कमजोर पड़ जाता है। विराट कोहली की गैरमौजूदगी में कप्तान बने रोहित शर्मा को टी-20 में नंबर पांच की रैंकिंग रास नहीं आ रही है। बांग्लादेश के खिलाफ रविवार से अरुण जेटली स्टेडियम में प्रदूषण से भरी धुंध के बीच टीम इंडिया टी-20 में मिशन नंबर एक का शंखनाद करने जा रही है। इस शंखनाद में नए चेहरे आजमाए जाएंगे और ऋषभ पंत, श्रेयष अय्यर जैसों को अपनी जगह पक्का करने का मौका भी मिलेगा। रोहित साफ करते हैं कि टी-20 में भारत नंबर पांच पर है, टीम तीनों संस्करणों में टॉप पर रहना चाहती है। टीम में जिस तरह के मानदंड स्थापित किए गए हैं उन्हें ऐसा कोई कारण नहीं लगता है जिससे यह लक्ष्य छुआ नहीं जा सके।

नंबर एक के साथ विश्व कप की तैयारियां हैं लक्ष्य

दरअसल यह श्रृंखला अगले वर्ष होने वाले टी-20 विश्व कप की तैयारियों की शुरूआत है। इस श्रृंखला से अगले विश्व कप तक भारत को तकरीबन 20 टी-20 मुकाबले खेलने हैं। यही कारण है टीम में संजू सैमसन, शिवम दुबे, वाशिंगटन सुंदर, राहुल चाहर जैसों को मौका दिया गया है। विश्व कप तैयारियों की दिशा में ही नंबर एक की रैंकिंग हासिल करने का लक्ष्य रखा गया है। रोहित के मुताबिक इसके लिए पहले बल्लेबाजी कर बड़ा स्कोर खड़ा करने की कमजोरी को दूर करना प्रमुख लक्ष्य है। यही नहीं रोहित के मुताबिक टीम में कई ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने ज्यादा टी-20 मैच नहीं खेले हैं। उन्हें अवसर देकर विश्व कप के लिए आजमाया जाएगा।

बांग्लादेश जीता नहीं पर किसी को भी हराने में सक्षम

पिछले कुछ सालों में बांग्लादेश ऐसी टीम रही है जिसने भारतीय टीम को परेशानी में डाली है, लेकिन टी-20 ऐसा संस्करण है जहां बांग्लादेश भारत के खिलाफ पहली जीत को तरस रहा है। अब तक दोनों देशों के बीच खेले गए आठ मुकाबलों में सभी में उसके हिस्से में हार आई है। हालांकि रोहित का कुछ और ही मानना है। भले ही बांग्लादेश टी-20 में भारत से नहीं जीत पाया हो लेकिन रोहित कहते हैं कि यह टीम हतप्रभ नहीं बल्कि किसी को भी हराने में सक्षम है। वह किसी भी कीमत पर इस टीम को हल्के में लेकर नहीं चल रहे हैं। वहीं बांग्लादेशी कप्तान रियाद महमुदुल्लाह मानते हैं कि भारत के खिलाफ टीम के वरिष्ठ बल्लेबाजों को जिम्मेदारी उठानी होगी। जिससे शाकिब की गैरमौजूदगी में बड़ा स्कोर खड़ा किया जा सके।
सैमसन-दुबे में से एक होगा टीम में

रोहित शर्मा ने यह भी साफ कर दिया कि शिवम दुबे और संजू सैमसन में से एक टीम में होना चाहिए। दोनों युवा बेहतरीन क्रिकेटर हैं। दोनों ही ने आईपीएल में अपनी उपयोगिता साबित की है।

ऋषभ को मौका देंगे रोहित

ऋषभ पंत को लेकर रोहित शर्मा कहते हैं कि उन पर और भरोसा जताने की जरूरत है। उन्होंने ज्यादा टी-20 मैच नहीं खेले हैं। उन पर कोई फैसला देना अभी जल्दबाजी होगी। अभी उन पर फैसला देने में काफी समय बचा है।

विराट की परंपरा को आगे बढ़ाएंगे रोहित

रोहित के मुताबिक वह विराट कोहली की गैरमौजूदगी में कप्तान बने हैं। टीम पहले से ही सही दिशा में चल रही है। उनकी कोशिश यही रहेगी कि वह विराट की पंरपरा को आगे बढ़ाएं।