अपराधियों में कानून का भय बनाना हमारी प्रमुख नीति : मुख्यमंत्री

0
48

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि राज्य में कानून एवं व्यवस्था सुदृढ़ कर जनमानस में सुरक्षा की भावना पैदा करना और अपराधियों में कानून का खौफ व्याप्त करना उनकी सरकार की प्रमुख नीति है।

योगी ने यहां रिजर्व पुलिस लाइन्स में ‘पुलिस स्मृति दिवस परेड’ के अवसर पर कहा कि उनकी सरकार की नीति है कि प्रदेश की आम जनता के जहन में सुरक्षा की भावना और अपराधियों में कानून का डर बैठाना उनकी सरकार की अहम नीति है।

उन्होंने कहा कि इस वक्त प्रदेश में कोई ऐसा संगठित अपराधी नहीं है, जो जेल के बाहर स्वच्छंद रूप से विचरण कर रहा हो। ऐसे अपराधियों को या तो जेल भेज दिया गया है या गिरफ्तारी के दौरान वे पुलिस की आत्मरक्षा में की गयी कार्रवाई में मारे गए हैं।

योगी ने कहा कि राज्य सरकार ने अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध जीरो टॉलरेंस की नीति अपनायी है। इसके परिणामस्वरूप अब तक प्रदेश के विभिन्न जनपदों में 96 दुर्दान्त/इनामी अपराधी पुलिस कार्रवाई में मारे गये हैं तथा 1631 अपराधी घायल हुए हैं। इस अवधि में 10252 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से 6,759 इनामी हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस की इन कार्रवाइयों से सभी वर्गों विशेषकर व्यापारियों, महिलाओं और लड़कियों में सुरक्षा की भावना व्यापक रूप से सुदृढ़ हुई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए गैंगस्टर एक्ट के तहत 23 हजार 773 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया एवं उनकी 200 करोड़ रुपए से अधिक की सम्पत्तियां जब्त की गयी हैं। अपराधियों में भय व्याप्त हो चुका है। इसके फलस्वरूप 16985 अभियुक्त अपनी जमानत निरस्त कराकर न्यायालय में आत्मसमर्पण कर जेल जा चुके हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) द्वारा संगठित तथा आर्थिक अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण के साथ ही, परीक्षाओं की शुचिता भी सुनिश्चित की गई है। आतंकवादी संगठनों के विरुद्ध विभिन्न एजेन्सियों के साथ निरन्तर समन्वय से एसटीएफ ने विभिन्न आतंकी संगठनों से जुड़े कुख्यात आतंकियों को गिरफ्तार किया एवं इन संगठनों के स्लीपिंग माड्यूल को भी ध्वस्त कर दिया। फलस्वरूप वर्तमान सरकार के कार्यकाल में राज्य में कोई भी आतंकी घटना घटित नहीं हुई है।

योगी ने आशा व्यक्त की कि भविष्य में भी प्रदेश पुलिस के सभी सदस्य पूरी ईमानदारी, कर्तव्य परायणता तथा जनसेवा की भावना से कार्य करते हुए, उत्तर प्रदेश की जनता के मन में सुरक्षा की भावना को और अधिक सुदृढ़ करने में सहयोग करेंगे।

मुख्यमंत्री ने शहीद पुलिसकर्मियों के परिजनों से भेंट भी की।