मिड-डे मील में अंडे खाने से बच्चे हो जाएंगे नरभक्षी: गोपाल भार्गव

0
53

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मिड-डे मील में अंडे शामिल करने का विरोध करते हुए बीजेपी ने एक वरिष्ठ नेता ने अजीबोगरीब तर्क दिया है। बीजेपी नेता गोपाल भार्गव का कहना है कि अगर बच्चों को नॉन-वेजिटेरियन फूड दिया जाएगा तो वे नरभक्षी बन सकते हैं। मध्यप्रदेश सरकार के एक फैसले को लेकर सत्तासीन पार्टी और विपक्ष आमने-सामने आ गए हैं। दरअसल, कांग्रेस सरकार ने ऐलान किया है कि आंगनबाड़ियों में जल्द ही बच्चों और गर्भवती महिलाओं को अंडे दिए जाएंगे। इसे लेकर कांग्रेस और बीजेपी के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है। बीजेपी ने इसे धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ बताया है।
नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा, ‘एक कुपोषित सरकार से और क्या उम्मीद की जा सकती है? वे बच्चों को अंडा परोसेंगे। जो अंडे नहीं भी खाते, उन्हें जबरन खाने में मजबूर किया जाएगा।’ उन्होंने आगे कहा, ‘अगर वे तब भी कुपोषित रहेंगे तो उन्हें चिकन और बकरे का मीट दिया जाएगा लेकिन भारतीय संस्कृति में, सनातन संस्कृति में नॉनवेज खाना पूरी तरह निषेध है। अगर हम बच्चों को नॉनवेज खाना सिखाएंगे, तो वे मीट खाकर नरभक्षी बन जाएंगे।’

गोपाल भार्गव ने कहा, ‘कमलनाथ सरकार लोगों को उनकी इटिंग हैबिट बदलने के लिए मजबूर नहीं कर सकती है और किसी को भी अंडे खाने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए।’ बता दें कि मध्य प्रदेश में महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने बुधवार को कहा था कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार कुपोषण से लड़ने के लिए नवंबर से मिड-डे मील में अंडे शामिल करेगी।

इससे पहले छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस सरकार ने इसी साल मिड डे मील में अंडे को शामिल करने की योजना बनाई थी लेकिन विपक्ष के विरोध करने पर उन्होंने अंडों को स्कूल में सर्व किए जाने के बजाय होम डिलिवरी का विकल्प रखा था।