दोहरा हत्याकांड, पूर्व विधायक की बेल खारिज, नवीन ने पार्टी जे निकाला

0
19

भुबनेश्वर। दोहरे हत्याकांड के मुख्य आरोपी पूर्व विधायक अनूप साय को बीजू जनता दल से निष्कासित कर दिया गया। उन्हें वेयर हाउसिंग बोर्ड की चेयरमैनी हटा दिया गया है। पूर्व विधायक पर महिला और उसकी बेटी की हत्या का आरोप है। छत्तीसगढ़ पुलिस का दावा है कि पूर्व विधायक अनूप का ही दोहरे हत्याकांड में हाथ है। पुलिस उसे कल ही गिरफ्तार करके छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिला ले गयी थी। उसे अदालत में पेश किया गया।
रायगढ़ के पुलिस अधीक्षक सन्तोष सिंह ने बताया कि अनूप साय ने अपराध कबूल कर लिया। एक तलाक़शुदा महिला कल्पना दास से अवैध सम्बन्ध थे। कल्पना 14 साल की बेटी बबली भी है। साय ने सुन्दरपडा एरिया में कल्पना म लिए फ्लैट भी लिया था जहां दोनो 2011 से 2016 तक रहीं भी। कल्पना पूर्व विधायक पर शादी के ये दबाव डाल रही थी और प्रॉपर्टी में हिस्सा भी मांग रही थी। तभी अनूप साय ने उसकी हत्या की साजिश रची। और लोहे की रॉड से मार डाला। बाद में कार से रौद दिया। मृतकों की शिनाख्त साल भर बाद हुई। अनूप साय ने अपने ड्राइवर पर हत्या का दोष मढ़ दिया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हत्या के एक दिन पहले ये लोग झरसुगुड़ा के एक होटल में रुके। वहां से अनूप साय उन्हें रायगढ़ यह कहकर ले जाने लगा कि मंदिर में शादी कर लेंगे। बाद में दोनों की हत्या करके कर से रौंद डाला। पुलिस अधीक्षक के अनुसार इस मामले 700 लोगों से पूछतांछ की गई। कोर्ट जे नार्को टेस्ट कराने का भी अनुरोध किया जाएगा। फुट प्रिंट और डीएनए संरक्षित है। इस केस की छानबीन के लिए 6 राज्यों ओडिशा, वेस्टबंगाल, बिहार, झारखण्ड, महाराष्ट्र व यूपी पुलिस टीम भेजी गई थी। कोर्ट में अनूप साय की बेल खारिज कर दी गयी। उसे न्यायिक हिरासत में ले लिया गया।