पेकिंग विश्वविद्यालय – बिना वैक्सीन के भी हो सकता सकता है कोरोना का इलाज

0
84

चीन : चीन की एक प्रयोगशाला ऐसी दवा विकसित कर रही है, जो कोरोना वायरस महामारी को रोक सकती है। लैब का मानना है कि बिना वैक्सीन के भी वह दवा Covid-19 को काबू में कर सकती है। पिछले साल के अंत में चीन में इस बीमारी का प्रकोप सामने आया था, जिसने बाद में पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया। दुनियाभर के वैज्ञानिक और शोधकर्ता इस वायरस का इलाज ढूंढ़ने के लिए कोशिश कर रहे हैं और वैक्सीन को विकसित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय दौड़ शुरू हो चुकी है।

चीन के प्रतिष्ठित पेकिंग विश्वविद्यालय में वैज्ञानिकों द्वारा परीक्षण की जा रही एक दवा न केवल संक्रमित लोगों के ठीक होने समय को कम कर सकती है, बल्कि वायरस से अल्पकालिक प्रतिरक्षा भी प्रदान कर सकती है। शोधकर्ताओं का कहना है कि पशु परीक्षण चरण में दवा सफल रही है। यूनिवर्सिटी के बीजिंग एडवांस्ड इनोवेशन सेंटर फॉर जीनोमिक्स के निदेशक सुनीनी झी ने बताया कि जब हमने संक्रमित चूहों में न्यूट्रलाइजिंग एंटीबॉडीज इंजेक्ट किया, तो पांच दिनों के बाद वायरल लोड 2,500 के कारक से कम हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here