मुख्यमंत्री योगी – औरैया हादसे में मरने वाले मजदूरों के परिवार को 2 -2 लाख रूपए मुआवजा

0
188

औरैया : उत्तर प्रदेश के औरैया में एक ट्रक हादसे में 24 लोगों की मौत हो गयी और 35 लोग घायल हो गए है. यह हादसा शहर कोतवाली क्षेत्र के मिहौली नेशनल हाईवे पर हुआ. बताया जा रहा है कि एक चाय की दुकान पर खड़े मजदूरों पर ट्रॉलर पलट गया, जिसे 24 मजदूरोंं की मौत हो गई. ये सभी मजदूर राजस्थान से आ रहे थे. तभी चिरुहली के पास डीसीएम ने पीछे से टक्कर मा दी. वहीं, मुख्यमंत्री योगी के आदेश पर दुर्घटना के लिए ज़िम्मेदार ट्रक मालिकों व चालकों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है. ट्रकों को भी सीज कर दिया गया है. मुख्यमंत्री ने आदेश दिया कि ट्रकों व गौर यात्री वाहनों से श्रमिकों को ढोने वाले वाहन स्वामियों व चालकों के खिलाफ तत्काल गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जाए. वाहन तत्काल सीज करें. श्रमिकों व कामगारों को भोजन पानी देकर बसों से सुरक्षित भिजवाएं.

वहीं, औरया की घटना पर मुख्यमंत्री की बड़ी कार्रवाई करते हुए बार्डर एरिया के दोनों थाना प्रभारियों को निलंबित कर दिया है. संबंधित पुलिस उपाधीक्षकगण एवं अपर पुलिस अधीक्षकगणों को कठोर चेतावनी दी गई है. सीएम ने घटना पर एसएसपी, आईजी, एडीजी से स्पष्टीकरण मांगा है. वहीं, मृतकों के परिजनों को दो लाख और गंभीर रूप से घायलों को 50,000 रुपये की सहायता का ऐलान किया है. वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औरैया में सड़क हादसे में प्रवासी कामगारों/श्रमिकों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है. साथ ही, जिला प्रशासन के अधिकारियों को पीड़ितों को हर संभव राहत प्रदान करने के निर्देश दिए हैं.

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मजदूरों के पालयन को लेकर दी गई हिदायत के महज 12 घंटे बाद ही ये हादसा हो गया. शुक्रवार को ही मुख्यमंत्री ने सख्त हिदायत दी थी कि कोई भी मजदूर पैदल या असुरक्षित तरीके से यात्रा न करें. इसको लेकर अधिकारियों को भी निर्देश जारी किए गए थे. साथ ही सीएम ने ये भी कहा था कि ट्रकों में ढोककर मजदूरों को ले जाने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी. कोरोना संकट काल में सबसे ज्यादा अगर कोई प्रभावित है, तो वो मजदूर वर्ग है. लॉकडाउन के कारण सभी यातायात सेवाएं बंद पड़ी हैं. ऐसे में कमाने-खाने के संकट के बीच मजदूर पैद ही अपने गांवों की ओर निकल पड़े हैं. पालयन के दौरान देश के कई कोनों से मजदूरों रोड और और ट्रेन एक्सीडेंट में मारे जा चुके हैं.