सेना प्रमुख ने दी पाकिस्तान को हिदायत, ब्लैकलिस्ट से बचना है तो आतंकियों पर करो कार्रवाई

0
80

नई दिल्ली: फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की पेरिस में हुई अहम बैठक में पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट होने से बचने के लिए कुछ महीनों की और मोहलत दी गई है. FATF की बैठक में पाकिस्तान की फजीहत के बाद भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तान को हिदायत देते हुए कहा है कि अगर उसे बचना है तो आतंकियों पर कार्रवाई करनी होगी.

भारतीय सेना प्रमुख ने कहा, फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की ओर से पड़ोसी देश को ब्लैकलिस्ट करने की चेतावनी के बाद पाकिस्तान पर आतंक के खिलाफ कार्रवाई करने का दबाव है. जिस तरह से पाकिस्तान को फरवरी 2020 तक की मोहलत मिली है, उससे उन पर प्रेशर है कि वह आतंकियों पर कार्रवाई करे. ग्रे लिस्ट में शामिल होना ही किसी भी राष्ट्र के लिए बड़े झटके से कम नहीं है.

गौरतलब है कि एफएटीफ की बैठक में पाकिस्तान को फटकार लगाते हुए फरवरी 2020 तक की मोहलत दी गई है. FATF की ओर से पाकिस्तान को हिदायत दी गई है कि वह आतंकियों पर कार्रवाई करने संबंधी एक्शन प्लान पूरा करे. इसी के साथ ये भी चेतावनी दी गई है कि अगर तय समय तक पाकिस्तान ने आतंकियों को दी जाने वाली फंडिंग पर रोक लगाने के संबंध में कोई कारगर कदम नहीं उठाया तो उस पर कार्रवाई की जाएगी.

एफएटीएफ की ओर से पाकिस्‍तान को निर्देश दिया है कि टेरर फाइनेंसिंग और मनी लॉन्ड्रिंग को पूरी तरह से खत्‍म करने के लिए और ज्‍यादा सख्‍त कदम उठाए. पेरिस में शुक्रवार को हुई बैठक में एफएटीएफ ने टेरर फंडिंग को रोकने के लिए पाकिस्‍तान की ओर से अब तक उठाए गए कदमों की समीक्षा की. अब एफएटीएफ पाकिस्‍तान की स्थिति पर अंतिम फैसला फरवरी 2020 में ही लेगा. चीन के पास एफएटीएफ का अध्‍यक्ष पद भी है.