वुहान से लौटे सभी 406 भारतीय संक्रमण मुक्त पाए गए

0
83

नई दिल्ली: दिल्ली के छावला स्थित आईटीबीपी ऑब्जर्वेशन सेंटर में रखे गए सभी 406 भारतीयों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 1 और 2 फरवरी को वुहान से लौटने के बाद सभी को यहां निगरानी में रखा गया था। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, भारत अब पूरी तरह कोरोनावायरस से संक्रमण मुक्त हो गया है। केरल के संक्रमित तीनों छात्र की स्थिति बेहतर है। उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। उधर, चीन में नोवेल कोरोनावायरस से गुरुवार को 118 लोगों की मौत हुई। देश में अब तक मरने वालों की संख्या 2236 हो गई है। 75,465 संक्रमण के मामलों की पुष्टि हो चुकी है।

भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि लाखों लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग के बाद कुल 2,654 लोगों के नमूने संदेह के आधार पर जांच के लिए भेजे गए। इनमें केवल तीन की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। चीन के वुहान से 1 और 2 फरवरी को एयर इंडिया के विमान से साल मालदीव के नागरिकों समेत 647 लोगों को निकाला गया था। सभी को दिल्ली के आईटीबीपी और मानेसर के सैन्य केंद्र में निगरानी के लिए रखा गया था।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने सोमवार को आईटीबीपी सेंटर में वुहान से लौटे भारतीयों से मुलाकात की थी। 406 में से लगभग 200 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। सोमवार को उन्हें घर भेज दिया गया था। वहीं, मानेसर के 252 रिपोर्टों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी।

चीनी अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया- वुहान के एक अस्पताल के 29 साल के डॉक्टर पेंग यिनहुआ की मौत हो गई।चीन के हेल्थ कमीशन के मुताबिक, गुरुवार को 1614 नए संदिग्ध मामलों की पहचान हुई। जबकि 5206 लोगों के अभी भी वायरस से संक्रमित होने का संदेह है। सबसे ज्यादा प्रभावित हुबेई प्रांत में 115 मौत हुई। झेजियांग, चॉन्गकिंग और युन्नान में 1-1 मौत हुई है।

हेल्थ कमीशन ने शुक्रवार को बताया- गुरुवार तक कोरोनावायरस से प्रभावित 18,264 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। हुबेई में 411 नए मामले सामने आए। प्रांत में अब तक 62442 मामलों की पुष्टि हुई, जिसमें राजधानी वुहान में 45346 मामले मिले।