मलवासा निवासी एक किसान की गेहूं खरीदी केंद्र में हार्ट अटैक से मौत, सात दिन बाद आया था गेंहूं तौलवाने का नंबर

0
173

आगर मालवा : समर्थन मूल्य के तहत गेहूं खरीदी केंद्र पर उपज बेचने से परेशानी का सबब बनता जा रहा है। सात दिनों से अपनी उपज की तौल करवाने के लिए ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर आए किसान की सोमवार को हार्ट अटैक से मौत हो गई। मलवासा निवासी 45 वर्षीय किसान प्रेम सिंह मैसेज के अनुसार 19 मई को तनोडिया के प्राथमिक कृषि सहकारी साख संस्था के केंद्र पर गेहूं लेकर पहुंच गया, लेकिन वहां तौल प्रक्रिया में हो रहे विलंब और अन्य कारणों से 25 मई को नंबर आया। भीषण गर्मी और लगातार धूप में खड़े-खड़े किसान की गेहूं की तौल करवाते समय तबीयत खराब हो गई। उसे जिला अस्पताल लेकर आया गया, यहां से स्वजन निजी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां इलाज के दौरान प्रेम सिंह की मौत हो गई।

सूचना पर कलेक्टर संजय कुमार, एसपी राकेश कुमार सिंह व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटनाक्रम की जानकारी ली। संस्था प्रबंधक संजय कारपेंटर ने बताया कि तौल केंद्र पर प्रेम सिंह गेहूं की तौल करवा रहे थे, इसी दौरान शाम करीब 5 बजे उनकी तबीयत खराब हुई। जिला कांग्रेस अध्यक्ष बाबूलाल यादव ने गेहूं खरीद को लेकर सरकारी तंत्र को विफल बताया और मृतक किसान के स्वजनों प्रदेश सरकार से 50 लाख रुपए मुआवजे की मांग की।

शासन अनुसार समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी की 26 मई अंतिम तारीख है। भोपाल से अंतिम तारीख के मैसेज भी किसानों के भेजे जा चुके हैं, किंतु गत पखवाड़े से केंद्रों पर उपज की बंपर आवक हुई, लेकिन बारदान की कमी के कारण किसान उपज तुलाई के इंतजार में बैठा है। इधर, कलेक्टर ने किसान की मौत के बाद जिले में गेहूं खरीदी अंतिम तारीख 29 मई कर दी है। आगर क्षेत्र के तनोडिया में प्राथमिक कृषि साख सहकारी संस्था द्वारा तीन केंद्रों पर गेहूं खरीदी की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here