उत्तर प्रदेश के नोएडा की एक 12 वर्षीय लड़की ने की प्रवासी मजदूरों की मदद, अपनी गुल्लक में से 48,000 रुपये देकर पंहुचाया तीन प्रवासी मजदूरों के उनके घर

0
158

नोएडा : कोरोना वायरस से देश मे 1 लाख 90 हजार से ज्यादा लोगों को यह संक्रमित कर चुका है और हर दिन मृतकों की संख्या इजाफा हो रहा है. इस संकट के समय हर कोई परेशानी से गुजर रहा है. सबसे ज्यादा परेशानी प्रवासी मजदूरों को हो रही है, जो इस संकट के समय किसी दूसरे राज्यों में फंस गये हैं और अपने घर जाना चाहते हैं. कई लोग प्रवासियों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं, ऐसे में उत्तर प्रदेश के नोएडा में रहने वाली 12 वर्षीय एक लड़की ने झारखंड के मजदूरों के मदद के लिए आगे आयी.

उत्तर प्रदेश के नोएडा में रहने वाली 12 वर्षीय निहारिका द्विवेदी ने झारखंड के तीन प्रवासी मजदूरों के उनके घर भेजने में मदद की. उसने प्रवासी श्रमिकों को हवाई मार्ग से झारखंड भेजने के लिए अपनी गुल्लक के बचत में से 48,000 रुपये दिया. न्यूज एजेन्सी ANI से बात करते हुए निहारिका द्विवेदी ने बताया कि समाज ने हमें बहुत कुछ दिया है और इस संकट में उसे वापस भुगतान करना हमारी जिम्मेदारी है.

उसने आगे कहा कि समाचार चैनलों को देखने और इन लोगों के संघर्ष ने मुझे प्रवासी मजदूरों को घर तक पहुंचने में मदद करने के लिए प्रेरित किया है. उन्होंने समाज में बहुत योगदान दिया है और यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम इस संकट में उनकी मदद करें. निहारिका ने ANI को बताया कि ‘मैंने अपनी जेब से 48,530 रुपये निकाले थे और मैंने इन तीन लोगों की मदद करने के लिए इसका इस्तेमाल किया, जिनमें से एक कैंसर का मरीज है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here