70 प्रतिशत कोरोना सरचार्ज लगने बावजूद दिल्ली में 9 दिन में बिक गयी 84 करोड़ रुपये की शराब

0
94

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार द्वारा शराब की दुकाने खुलने के अगले दिन शराब पर 70 प्रतिशत कोरोना सरचार्ज लगा दिया गया था लकिन इसके बावजूद दिल्ली में नौ दिनों में 84 करोड़ रुपये की शराब डकार ली गई. छह हफ्ते के लॉकडाउन के बाद दिल्ली सरकार ने 4 मई को शराब की दुकानें खोलने की इजाजत दी थी. जिसके बाद शराब की दुकानों के बाहर शौकीन लोगों की काफी लंबी कतार लग गई. आबकारी विभाग के 12 मई तक के आंकड़ों के मुताबिक, शराब पर स्पेशल कोरोना सरचार्ज लगाकर सरकार को 55 करोड़ रुपये की कमाई हुई जबकि उत्पाद शुल्क के तौर पर 52-54 करोड़ रुपये की आमदनी हुई. शराब की सबसे ज्यादा बिक्री 9 मई को 18 करोड़ रुपये की हुई. 4 मई को शराब दुकानों के खुलने के पहले दिन 5.2 करोड़ रुपये की शराब बेची गई. 5 मई को ये आंकड़ा बढ़कर 4.5 करोड़ रुपये हो गया. 7 मई को 50 लाख की बढ़ोतरी के साथ 5 करोड़ रुपये की शराब बिकी.

8 मई को दिल्ली वालों ने ऊंची छलांग लगाते हुए 15.8 करोड़ की शराब गटक गए. हालांकि उसके बाद पीने वालों की संख्या में थोड़ी कमी देखी गई. मगर फिर भी 10 मई को 14.2 करोड़ की शराब बेची गई. 11 मई को 11.6 करोड़ शराब पर लोगों ने खर्च कर डाले तो वहीं 12 मई को 9.7 करोड़ रुपये की शराब की बिकवाली हुई. आपको बता दें कि सरकार के शराब दुकानों को खोलने के एलान के बाद 160 दुकानों पर दिल्ली में देसी-विदेशी शराब बेची जा रही है. शराब के लिए लोगों की उमड़ी भीड़ को देखते हुए सरकार ने 70 फीसद कोरोना वायरस स्पेशल का चार्ज सभी तरह की शराब पर लगा दिया है.