60 साल के बुजुर्ग ने प्रॉपर्टी विवाद से त्रस्त होकर कर ली आत्महत्या, बेटे ने बहनो के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज करवाया

0
120

राजस्थान : कलयुग में जहां बेटियों द्वारा अपने पीहर और माता-पिता की सेवा के साथ उनकी मौत पर अर्थी को कांधा देने का समाचार तो सुनने को मिलता ही है, लेकिन जोधपुर में कलियुगी बेटियों द्वारा जमीन के लालच में अपने पिता को आत्महत्या के लिए उकसाने का शर्मनाक मामला सामने आया है। घटना जोधपुर के बासनी थाना के संगरिया क्षेत्र से जुड़ी है, जहां 60 साल के बुजुर्ग ने प्रॉपर्टी विवाद से त्रस्त होकर आत्महत्या समाप्त कर ली। मामले में मृतक के बेटे द्वारा अपनी बहनों द्वारा पिता को परेशान करने और आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज करवाया गया है। पुलिस ने मृतक की तीन बेटियों को गिरफ्तार कर लिया है। जोधपुर की बासनी पुलिस ने बताया कि सांगरिया स्थित अमरावती नगर में रहने वाले एफसीआई से सेवानिवृत 60 साल के बीरबल राम पुत्र बाबूलाल विश्रोई ने गत 14 मई को घर की एक दीवार के सहारे फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली थी। मामले की प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया कि वे जमीन व मकान के विवाद के चलते बेटियों से परेशान थे।

तीनो पुत्रियों द्वारा जमीन और अन्य प्रॉपर्टी के मामलों को लेकर लगातार पिता पर दबाव बनाया जाता था। स्थानीयनिवासियों और निकट रिश्तेदारों से बातचीत में भी प्रॉपर्टी को लेकर आए दिन होने वाले झगड़ों का जिक्र किया गया था। इसके बाद लगातार तनाव झेल रहे वृद्ध ने घर के ऊपर बने धमधमे पर चद्दर से लटककर अपनी जान दे दी थी. घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतरवाया और पड़ताल की। मृतक के पुत्र द्वारा तीन बहनों व बहनोई के खिलाफ केस दर्ज करवाया था। पुलिस ने तीन बेटियों को गिरफ्तार किया है। मृतक बीरबलराम की तीनों पुत्रियों पुष्पा, राजेश्वरी एवं कमला सहित अन्य के खिलाफ आत्महत्या के दुष्प्रेरित करने के मामले में अनुसंधान जारी है। पुलिस तीनो पुत्रियों से पूछताछ कर रही है।