बुलबुल से बचने के लिए मछुआरों के ३७ नाव धामरा में, १३ अभी भी समुद्र में हैं

0
39

भुवनेश्वर.- मौसम विभाग की ओर से ऐलान कर दिया गया है कि समुद्री तूफान बुलबुल पश्चिम बंग के सुन्दरबन के खेफुधारा के पास भूमि को स्पर्श करनेवाला है। इसे देखते हुए यहा के मछुआरें सबसे अधिक चिन्ता मे हैं। इस इलाके के ५० नाव मछुआरों के साथ गभीर समुद्र को मछली पकडने के लिए गये थे। वह आज्ी भी समुद्र में थे। उन्हे गभीर समुद्र में मछली पकडने के बाद नाव लेकर मेदिनिपुर के कंटाई तट को लौटना था। लेकिन बुलबुल को उसी रास्ते में भूमि में प्रवेश करना है। इसलिए यह सारे नाव एक एक करके भद्रक जिले के धामरा की ओर वापस आ रहे हैं। पहले सात नाव आये थे। अब तक ३७ पहुच गये हैं। बाकी १३ अभी भी गभीर समुद्र के अन्दर हैं। उन्हे धामरा की ओर लौटने के लिए कहा जा रहा है। भद्रक के एडीएमओ श्यामदत्त मिश्र के मुताबिक जितने भी मछुआरें धामरा पहुच रहे हैं उनके लिए खाने पिने का इन्तजाम किया जा रहा है। स्थिति सामान्य होने तक वह धामरा में रहेंगे।
उधर पशिचम बंग सरकार के मुख्य सचिव ने ओडिशा के मुख्य सचिव से फोन करके तूफान से निपटने के लिए मदद मांगी है।। ओडिशा सरकार की ओर से उन्हे पूरा पूरा मदद करने के लिए वादा किया गया है।