जम्मू- कश्मीर में आतंकी हमले के बाद पश्चिम बंगाल वापस लाए जा रहे हैं 131 मजदूरः ममता बनर्जी

0
42

नई दिल्ली। ममता बनर्जी की सरकार जम्मू कश्मीर में काम कर रहे 131 लोगों की राज्य में वापसी के लिए मदद कर रही है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि पिछले 29 अक्टूबर को कश्मीर में राज्य के पांच मजदूरों की हत्या के बाद वापसी की इच्छा जाहिर करने वाले मजदूरों के लिए राज्य सरकार ने एक विशेष कोच की व्यवस्था की है.
अधिकारी ने कहा, ‘‘हम उन 131 लोगों को वापस ला रहे हैं, जो काम के लिए जम्मू-कश्मीर गए थे और वे अब वहां रहने में अनिच्छुक है.’’ जम्मू में पहले से ही नौ श्रमिक पहुंच गये है और शेष जम्मू आने के लिए श्रीनगर से चल चुके है. वे जम्मू से कोलकाता के लिए रेलगाड़ी में सवार होंगे.
अधिकारी ने बताया कि एक वरिष्ठ मंत्री को एक वीडियो फुटेज मिली थी जिसमें बंगाली मजदूर सरकार से उन्हें वापस लाने के लिए कदम उठाये जाने का आग्रह करते हुए दिखाई दे रहे थे. इसके बाद पश्चिम बंगाल सरकार ने यह निर्णय लिया.
उन्होंने कहा, ‘‘मजदूरों को यह डर है कि यदि वे कश्मीर घाटी में रहना जारी रखेंगे तो उन्हें मार दिया जायेगा.’’ उन्होंने कहा कि ये मजदूर उत्तरी दिनाजपुर, कूचबिहार और मुर्शिदाबाद जिलों के रहने वाले है और पिछले 15 वर्षों से अधिक समय से घाटी में काम कर रहे थे.
गौरतलब है कि गत 29 अक्टूबर को पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के बहलनगर गांव के पांच लोगों कमरूद्दीन शेख, मुरसलीम शेख, रफीकुल शेख, रफीक शेख और नईमुद्दीन शेख की घाटी के कुलगाम जिले में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.
राज्य सरकार ने इससे पूर्व मारे गये पांचों मजदूरों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि दिये जाने की घोषणा की थी.