भुवनेश्वर में माओवादियों के डर से 11 आदिवासी गांव छोड़ने के लिए मजबूर

0
94

भुवनेश्वर: मालकानागिरी के एक आदिवासी गांव डाबु गांव के 11 आदिवासी माओवादियों की डर से घर छोडने के लिए मजबूर हुए हैं। यह सभी एक परिवार के हैं। परिवार के मुखिया सुरेन्द्र शामा के मुताबिक उन्हे माओवादियों की ओर से धमकी दी जा चुकी है कि अगर वह गांव नहीं छोड़ते हैं तो उन्हे सपरिवार मृत्युदंड दिया जाएगा। सामा के मुताबिक सारा परिवार इस समय कुडुमुल्लु गांव में एक सम्बन्धी के घर पर ठहरे हुए हैं।

दो महीने पहले इस इलाके में माआवादियों के साथ सुरक्षा बल की मुठभैड़ हुई थी। मुठभैड़ में एक कैडर मारा गया था। कई माओवादी घायल हो गये थे। माओवादियों का कहना है कि इसके लिए सामा जिम्मेदार है। क्योंकि वह पुलिस की मुखबरी कर रहा था।

सामा के मुताबिक माओवादियों ने उनका घर तोड़ डाला हैं। माओवादियां ने उन्हे अपनी फसल नहीं काटने की चातावनी दी है। यह फसल गावं वालों के वितरित की जाएगी।
उसी तरह दो माह पहले महुपदर का एक परिवार को माआवादियां की धमकी मिलने के बाद वह इस समय गांव छोड़कर माथिली में रह रहे हैं।

मामले के बारे में मालकानागिरी एसपी के आर ज्ञानदेव ने कहा है कि पुलिस की ओर से परिवार को पूरी सुरक्षा दी जाएगी। एसपी के मुताबिक सुरक्षाबल की और से इलाके में सर्च अपरेान जारी है। खुफिया विभाग को भी इस परिवार पर आने वाले खतरों पर नजर रखने के लिए कहा गया है।