बारिश से बेहाल जनजीवन, ११ जिलों में स्कूल कालेज बन्द

0
78

भुवनेश्वर.- पिछले दो दिनों से हो रही लगातार बारिश की वजह से ओिड़शा के अधिकत्तर जिलों में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। लगात्तर बारिश की बजह से राज्य के कई स्थानों पर सड़क सम्पर्क कटे हुए हैं। कई स्थानों पर पहाड़ से मिट्टी धंसने के कारण सड़क संपर्क टूट चुका है। कई स्थानों पर लोगों का मिट्टी के बने मकान ढ़ह गये हैं। घर के दिवार ढ़ह जाने से पुरी के एक कुम्भकार समेत चार लोगों की मौत हो गई है व कई घायल हो गये हैं।

रिकार्ड तोड़ बारिश
शुक्रवार को एक पत्रकार सम्मेलन में राज्य के विशेष राहत आयुक्त प्रदीप कुमार जेना ने कहा है कि राज्य के ८ जिलों में फिछले २४ घंटों में औसतन १०० मिमी से अधिक बारीश हुई है। पिछले २४ घंटों में सबसे अधिक बारिश भद्रक जिले में १५२ मिमी हुई है जबकि कलाहांड़ी में सबसे कम २४.९ मिमी बारिश हुई है। राजधानी भुवनेश्वर में पिछले दो दिनों में २५३ मिमी बारिश हुई। जाजपुर जिले के विंझारपुर ब्लाक में एक दिन में २३९ मिमी बारीश हुई है। लेकिन राज्य में बाढ़ या तूफान की आशंका नहीं है। बंगाल की खाड़ी में बने निम्न दबाव की बजह से राज्य में लगातार बारिश हो रही थी। आज मौसम विभाग की ओर से सूचना दी गयी है कि धीरे धीरे स्थिति सामान्य होगी। शनिवार तक बारीश पुरी तरह रूक जाएगी। लेकिन अगले २४घण्टों में उत्तर, दक्षिण व आभ्यन्तरीण ओिड़शा में बारिश जारी रहेगी। विशषकर बालेश्वर, मयुरभंज, भद्रक, केन्दुझर व जगतसिंहपुर में बारिश होने की आशंका है।

११ जिलों को सतर्क रहने के लिए कहा गया
स्थानीय मौसम विभाग की ओर से राज्य के ११ जिले को १० बजकर ३० मिनट तक सतर्क रहने के लिए कहा गया है। यह जिले हैं गंजाम, जगतसिंहपुर, केन्द्रापड़ा, जाजपुर, खुर्द्धा, पुरी, कटक, नयागड़, भद्रक, बालेश्वर, ढेंकानाल।
११ जिलों में स्कूलकालेज व अंगनवाड़ी केन्द्रों को बन्द रखा गया है। आज मयुरभंज जिले के जिलाधीश ने जिले के सभी स्कूल कालेज व अंगनवाड़ी केन्द्रों को एक दिन के लिए बंद रखने के लिए निर्देश दिया है। कलतक १० जिलों के स्कूल, कालेज व अंगनवाड़ी केन्द्रों को बंद रखने के लिए निर्देश दिया गया था। आज भी वह स्कूल कोलेज छात्रछात्राओंके लिए छुट्टी है। लेकिन कर्मचारी व शिक्षकों को स्कूल में उपसिथत रहना होगा।

दिवार गिरने से ४ की मौत
राज्य में हो रही लगातार बारिश की बजह से ४ लोगां की मौत हो गई है। इनमें पुरी जिले के जगन्नाथ मन्दिर से जूड़े कुम्भकार नियोग के कुम्भकार रसानन्द विषायी शामिल हैं। विशोयी जब अपने घर पर सो रहे थे उस समय दिवार ढह गयी।उन्हे तुरन्त अस्पाताल में भर्ती कराया गया था। जहा@ आज उनकी मौत हो गई है। विषोयी कुम्भकार नियोग के सचिव थे। उनके परिवार के अन्य सदस्य इस समय अस्पाताल में भर्ती है।
बालेश्वर जिला राइवणिया थाने के दायरे में आने वाला भदुआ गांव में एक परिवार घर में सो रहे थे। जब उनपर दिवार गिरी। इससे घर के मुखिया की मौत हो गई है। उनकी पत्नी व एक चार साल की लड़की गम्भीर हालत में हाथीगड़ अस्पाताल में भर्ती हंै।  केन्द्रापडा जिला आली थाने के गणेश्वरपुर नूआसाही गांव में घर की दिवार गिर जाने से एक ८० साल के बुजुर्ग कैलास सामल की मौत हो गई है। जबकि उनकी पत्नी वुरी तरह से घायल हो गई है। अस्पाताल में भर्ती हैं।
केन्दुझर जिला आनन्दपुर में भी दिवार गिरने से एक व्यक्ति की मौत हुई है।