समाज शताब्दि कल्चरल फियेस्टाः पूर्व सीएम गिरधर गमांग आदिवासी कलाकारों के साथ झूमे, बजाते रहे वाद्ययंत्र

0
119

पुरी। ओडिशा में मजलूमों की आवाज कहा जाने वाला ओड़िया समाचार पत्र समाज के शताब्दी वर्ष में तीन दिवसीय सेंटेनरी कल्चरल फियेस्टा 2020 में देश के कोने कोने से आए कलाकारों ने जगन्नाथ धाम पुरी में सांस्कृतिक विविधता की छठा बिखेरी। पहले दिन ओडिशा की धार्मिक राजधानी पुरी में गुंडिचा मंदिर के ठीक सामने भारी भीड़ के सामने कलाकारों ने विभिन्न शैली के नृत्य प्रस्तुत किए।

ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री गिरधर गमांग भी आदिवासी कलाकारों के साथ मंच पर अपनी कला का प्रदर्शन किया। गुजरात का डांडिया नृत्य सराहा गया। नृत्य कलाकारों का डांडिया का अंदाज न केवल नयनाभिराम रहा बल्कि संतुलन बनाए रखते हुए कलाकारों ने नृत्य का प्रदर्शन किया।

 

मंच पर ओडिशा के कालाहांडी, मयूरभंज, बरगढ़, संस्कृति परफार्मिंग आट्स गुजरात, नृत्य ज्योति फाइन आर्ट्स आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, दिल्ली के भी नृत्य कलाकारों में अपनी-अपनी कला का प्रदर्शन किया।

इससे पूर्व लोक सेवक मंडल और समाज परिचालन मंडल के अध्यक्ष दीपक मालवीय, पूर्व मुख्यमंत्री गिरधर गमांग, महासचिव निरंजन रथ, दिल्ली ब्रांच के चेयरमैन राजकुमार, कोषाध्यक्ष भीमसेन यादव, अजय सिंह, कार्यवाहक जीएम प्रियब्रत महंति, कार्यवाहक संपादक सुशांत महंति आदि ने कलाकारों का परिचय प्राप्त किया व विचार व्यक्त किया। निरंजन रथ ने आगंतुकों का स्वागत किया।