बीजेपी संगठन के चुनाव खत्म, समीर महंति को ओडिशा की कमान, निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए

0
157

भुवनेश्वर (विप्र)। बीजेपी के उपाध्यक्ष पद पर रहे समीर महंति को ओडिशा इकाई का अध्यक्ष निर्वाचित घोषित किया गया। उनके मुकाबले किसी के भी परचा न दाखिल करने से वह निर्विरोध चुने गए। चुनाव की कागजी खानापूरी के बाद उनका नाम घोषित किया गया। पूरे 16 साल बाद बीजेपी की ओडिशा इकाई का अध्यक्ष पद कोस्टल (तटवर्ती क्षेत्र) को समीर महंति के नाम से मिला। अब तक यह पद पश्चिमी ओडिशा के खाते में जाता रहा। जुएल ओरम, केवी सिंहदेव, बसंत पंडा सरीखे दिग्गज राज्य की इकाई का नेतृत्व करते रहे।

हालांकि इस पद को भरने के लिए चुनाव का दावा किया जाता रहा पर बताते हैं कि समीर महंति के नाम पर आम सहमति बन चुकी थी। नामांकन भरने की कागजी खानापूरी समी महंति ने की। पर्यवेक्षक के रूप में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और राजीव प्रताप रूढ़ी और ओडिशा प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह खासतौर पर उपस्थित रहे। महंति निर्विरोध चुने गए। उनके मुकाबले किसी ने भी नामांकन नहीं भरा। उन्हें राज्य की सभी 34 नगर और जिला कमेटियों के अध्यक्षों और ओडिशा स्टेट काउंसिल का समर्थन प्राप्त था। समीर महंति इससे पहले बीजेपी के ओडिशा उपाध्यक्ष पद पर थे। बीजेपी में प्रदेश अध्यक्ष सहित 25,759 बूथ कमेटी, 850 मंडल और 34 जिला नगर संगठन चुनाव का पूरा हो गया।

बताया जाता है कि समीर महंति संघ परिवार के जमीनी कार्यकर्ता हैं। उनके नाम पर सबकी सहमति बनी थी। महंति भी धर्मेंद्र प्रधान की तरह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से आते हैं। उन्हें प्रधान का करीबी माना जाता है। वह सरकारी नौकरी छोड़कर राजनीति में आए हैं। बीजेपी में राज्य के अध्यक्ष के रूप में तटवर्ती क्षेत्र के किसी नेता का 16 साल बाद नाम प्रकाश में आया। उसे नेतृत्व का मौका मिला। इससे पहले 2004 में भद्रक जिला के मनमोहन सामल प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं। वह अबकी बार भी दावेदार थे। वह 2016 से ओडिशा बीजेपी के उपाध्यक्ष पद पर थे।

2019 के चुनाव के बाद बीजेपी ओडिशा का प्रमुख विपक्षी दल है। चुनाव में बीजेपी काफी मजबूत पार्टी होकर उभरी। पश्चिमी ओडिशा में लोकसभा सीटों पर बीजेपी ने बीजेडी का सूपड़ा साफ कर दिया था। कालाहांडी, सुंदरगढ़, बरगढ़, बलंगीर और संबलपुर लोकसभा की पूरी पांच सीटें बीजेपी के खाते में आ गयीं थी। इससे पहले बसंत पंडा अध्यक्ष थे। वह कालाहांडी से लोकसभा चुनाव जीतकर सदन के सदस्य हो गए हैं। वह पश्चिम ओडिशा के नुआपाड़ा क्षेत्र से आते हैं। उनसे पहले सुंदरगढ़ से जुएल ओरम, बलंगीर से केवी सिंह देव अध्यक्ष रहे हैं। पश्चिमी क्षेत्र से बीजेपी के नेता सदन प्रदीप्तो नायक भी आते हैं। ऐसे में पहले से ही अनुमान लगाया जा रहा था कि समीर महंति के रूप में अबकी तटवर्ती क्षेत्र का अध्यक्ष होगा।