फ्रेंच कारोबारियों को निवेश का न्योता, इंडस्ट्रियल कॉरीडोर की ओर बढ़ा ओडिशा

0
122

भुवनेश्वर। मेक इन ओडिशा कान्क्लेव की सफलता में सरकार एक कदम और आगे बढ़ गयी है। फ्रांस ने भी ओडिशा में निवेश करने में रुचि दिखायी है। यह बात मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और फ्रांस के राजदूत एलेक्जंडर जिगलर के नेतृत्व में आए प्रतिनिधि मंडल के बीच बातचीत में प्रकाश में आयी। यह बातचीत शनिवार को भुवनेश्वर सचिवालय में हुई।

फ्रांस की कंपनियों ने ओडिशा में विभि्न्न सेक्टरों में निवेश की पहल करने की बात की। विशेषकर होटल, स्टील, इलेक्ट्रानिक और एनर्जी क्षेत्रों निवेश में रुचि फ्रांसीसी कंपनियों ने दिखायी।

पटनायक ने नवंबर में होने वाले मेक इन ओडिशा कान्क्लेव में आने के लिए फ्रांस की कंपनियों को भुवनेश्वर आने का न्योता दिया। उन्होंने कहा कि कारोबार के लिए ओडिशा के विशेष हब बनता जा रहा है। हर संभव सुविधा राज्य सरकार मुहैया कराने को तत्पर है।

पटनायक ने इससे पूर्व प्रतिनिधि मंडल का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि ओडिशा माइंस सेक्टर में बहुत रिच है। दक्षिण एशियाई देशों का ओडिशा एल्युमिनियम कैपिटल बनने की ओर तेजी से बड़ रहा है। देश का 54 प्रतिशत एल्युमिनियम ओडिशा में होता है। डिफेंस और एयरोस्पेस सेक्टर के लिए राज्य सरकार शीघ्र ही नीति बनाएगी।

पटनायक ने ओडिशा विजन-2030 के चुनींदा बिंदु रखे। उन्होंने प्रतिनिधि मंडल से अपील की कि विमान क्षेत्र, इलेक्ट्रानिक उपकरण, खाद्य प्रसंस्करण व चिकित्सीय उपकरण में निवेश करने को आगे आएं। राजदूत जिगलर के साथ इंडो-फ्रांस चैम्बर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के लोगों ने ओडिशा में निवेश का आश्वासन दिया।