पांच लाख तक कोई टैक्स नहीं, बैंक में सुरक्षा की गारंटी, रोजगार पर चुप्पी से हैरानी

0
85

भुवनेश्वर। बजट निम्न और मध्यम आय वर्ग के लोगों के लिए यह बजट संजीवनी लेकर आया है। आपको पांच लाख रुपये सालाना आय तक कोई टैक्स नहीं देना है। रोजगार के मुद्दे पर बजट में खामोशी दुखदायी है। दूसरे आपका पांच लाख रुपया बैंक में सुरक्षित रहेगा। बजट में 15 लाख रुपये तक की सालाना आय वाले लोगों को कुछ कंडीशन लगाकर टैक्स में छूट दी गयी है। नये टैक्स स्लैब का लाभ उठाने के लिए टैक्स पेयर को कोई छूट नहीं मिलेगी।

बजट स्पीच के दौरान फाइनेंस मिनिस्टर ने दावा किया है कि यदि कोई व्यक्ति 15 लाख रुपया सालाना कमाता है और किसी कर छूट का दावा नहीं करता है तो पहले 2.73 लाख रुपये टैक्स देना पड़ता था जबकि नई व्यवस्था के तहत उस व्यक्ति को 1.95 लाख रुपये देने होंगे। यदि लोग छूट लेना चाहेंगे तो उन्हें पुरानी टैक्स दरों पर ही कर चुकाना होगा। एक खास बात यह है कि अब बैंकों में जमा आपकी पांच लाख रुपये तक की रकम अब बीमा से सुरक्षित है। पहले बीमा में यह सुरक्षा एक लाख तक राशि पर थी। पीएमसी के दिवालिया होने जैसी घटनाओं की स्थिति में आम लोगों की जमा राशि अब पहले से ज्यादा सुरक्षित है।

एलआईसी अपनी हिस्सेदारी बेचेगी। इसके लिए एलआईसी का आईपीओ लाया जाएगा यानी एलआईसी की स्टाक मार्केट में लिस्टिंग होगी। लाभांश वितरण में टैक्स समाप्त कर दिया गया है। यह कर पहले कंपनियां अंश धारकों को दिए जाने वाले लाभांश पर चुकाती थी। पीपीपी के जरिये रेलवे और अधिक प्राइवेट ट्रेन चलाएगी। यानी तेजस जैसी ट्रेनों के चलने का रास्ता खुल गया है।

यहीं नहीं साल 2024 तक 100 एयरपोर्ट का निर्माण किया जाएगा। जल्द ही खराब होने वाले कृषि उत्पादों को बाजार तक पहुंचाने के लिए किसान रेल और किसान उड़ान जैसी योजनाएं शुरू की जाएंगी। विदेशी जूते, फर्नीचर और चिकित्सा संबंधी मशीनों पर आयात शुल्क बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। आने वाले तीन सालों के भीतर प्री-पेड बिजली मीटर लगाने पर जोर दिया गया है। ये मीटर लगाए जाएंगे। सरकार गैर राजपत्रित कर्मचारियों की भरती के लिए एक नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी का गठन करेगी। एजेंसी ऑन लाइन टेस्ट लेगी।