चक्रवाती तूफान से दो मौतें, जानमाल नुकसान की रिपोर्ट 48 घंटे में देने का निर्देश

0
150
This May 17, 2020, satellite image released by NASA shows Cyclone Amphan over the Bay of Bengal in India. Amphan has intensified into a super cyclone and expected to make a landfall near Sundarbans, south of Kolkata, on Tuesday evening, May 19, 2020. A red alert has been initiated to sea bound fishermen and disaster management teams started evacuating villagers from the sea front. (NASA Worldview, Earth Observing System Data and Information System (EOSDIS) via AP)

भुवनेश्वर। चक्रवाती तूफान अम्फान ओडिशा पार करके पश्चिम बंगाल में प्रवेश कर गया है। वहां सुंदरवन में लैंडफाल किया। वहां पर 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चली और तेज बारिश हो रही है। ओडिशा में चक्रवात के कारण दो मौते हो गयी।

ओडिशा में आज चक्रवाती तूफान से तबाही के चलते हजारों की संख्या में घरगिरी की घटनाएं हुई जबकि लाखों पेड़ जड़ से उखड़ गए। भद्रक जिले में तिकड़ी ब्लाक के कांपड़ा गांव में दीवार गिरने से एक बच्चे की मौत हो गई। दूसरी घटना में बिजली का खंभा गिरने से बालासोर में एक महिला की मौत हो गई है। एक अन्य घटना में प्रसव पीड़ा से छटपटाती महिला तूफान में फंसी होने से अस्पताल से ही एक बच्ची को जन्म दिया।

विशेष राहत आयुक्त ने जिलाधिकारियों से दो दिन के भीतर जान-माल के नुकसान की पूरी रिपोर्ट देने को कहा है। मंगलवार से राज्य के तटीय जिलों में भारी बारिश और तेज हवाएं चलती रहीं। विशेष राहत आयुक्त पीके जेना के अनुसार देर रात एक बजे तक तटीय क्षेत्रों से 1.20 लाख लोगों को निकाल कर 1704 शेल्टरों में सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। अम्फान जगतसिंहपुर के पारादीप बंदरगाह से करीब 550 किमी दूर था तभी से असर दिखाना शुरू कर दिया था। आज सुबह से ही बारिश और हवाएं तेज थी। पेड़ों के गिरने से ज्यादातर सड़क मार्ग अवरुद्ध हो गए थे। ओडिशा में 90 से लेकर 110 किमी की रफ्तार से हवाएं चलीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here