कोविड-19 की अफरातफरी के बीच रथयात्रा की तैयारी, तीनों रथों के पहिये जोड़े गए

0
105

पुरी। कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच रथयात्रा की तैयारियां जोरों पर हैं। जगन्नाथ भगवान रथयात्रा को लेकर अच्छी खबर यह है कि चंदनयात्रा के अंतिम दिन भंवरी यात्रा में तीन रथों के छह पहिए जोड़े गए। कोरोना के बढ़ते प्रभाव के बीच ल़ॉकडाउन के दौरान रथयात्रा की तैयारी भी जोरों पर है। स्थितियां अनुकूल रहीं तो रथयात्र निकाली जा सकती है। पुरी में नौ दिनी रथयात्रा 23 जून से है। आज भंवरी यात्रा के दिन तीन रथों के छह पहियों को जोड़ दिया गया है। समय पर रथ निर्माण पूरा होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

हाईकोर्ट ने समय पर यानी 22 जून तक रथ तैयार करने का आदेश सरकार को दिया था। सदियों पुरानी परंपरा के मुताबिक आज के ही दिन ही तीनों रथों के दो-दो पहिये अख के साथ जोड़ने की परंपरा रही है। यह कार्य विधि के मुताबिक किया गया। श्रीमंदिर से पूजा पंडा सेवक आज्ञा माला लेकर श्रीनहर तक पहुंचे। इसके बाद भोई विश्वकर्मा सेवायत ने चक्कों को अखा के साथ जोड़ा। बाद में पूजापंडा के श्रीमंदिर से लाए गए आज्ञा माला को चढ़ाया गया। पूजा पंडा ने पुष्प अर्पित होने के बाद प्रणाम किया और फिर विश्वकर्मा ने रथ को प्रणाम कर आशीर्वाद ग्रहण किया। सेवायतों ने हरिबोल का गगनभेदी उच्चारण किया। सारे कार्यक्रम अध्यात्मिक माहौल में किए गए। विश्वकर्मा सेवायत विजय महापात्रा ने रथों का निर्माण समय सीमा के भीतर पूरा किए जाने की उम्मीद जतायी।