कोरोना गिरफ्त में ओडिशा अब अम्फान चक्रवात से सहमा, अलर्ट जारी, 18 व 19 को तबाही संभव

0
74

भुवनेश्वर। कोरोना वायरस की पंजों में छटपटाता ओडिशा अब चक्रवात की गिरफ्त में आने लगा है। राज्य में अम्फान चक्रवात दस्तक दे चुका है। दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र डिप्रेशन में परिवर्तित हो चुका है। समुद्री तूफान अम्फान लैंडफाल कहां करेगा? मौमस विभाग के हवाले से विशेष राहत आयुक्त प्रदीप जेना ने बताया कि 17 मई को पता चलेगा। ओडिशा के सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में बालासोर, भद्रक, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर शामिल है। यहां पर तेज बारिश के साथ हवाओं की रफ्तार 65 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी। इसी के साथ प्रभावित इलाकों का पता चल जाएगा। इसके बाद 24 घंटों के भीतर यह डरावनी शक्ल अख्तियार कर लेगा।

चक्रवात अम्फान की वजह से उत्तर तटीय ओडिशा के ज्यादा प्रभावित होने की सूचना भारतीय मौसम विभाग से मिली है। ओड्राफ, एनडीआरएफ तथा दमकल विभाग से सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है। इसके लैंडफाल होने पर हवाओं की स्पीड 115 किलोमीटर प्रतिघंटा हो सकती है। समुद्र के अंदर डेढ सौ किलोमीटर प्रति घंटे की गति से हवा चलने का फिलहाल मौसम विभाग को अनुमान है। विशेष राहत आयुक्त प्रदीप कुमार जेना ने बताया कि चक्रवात से निपटने के लिए ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक शाम पांच बजे राज्य तटवर्ती 12 जिलों के जिलाधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग करेंगे। जेना ने बताया कि रिलीफ सामग्री और तूफान से तबाही बचाने की तैयारी है।

पारादीप बंदरगाह से 1060 किलोमीट दूरी पर तथा पश्चिम बंगाल के दीघा से 1250 किलोमीटर एवं बांग्लादेश से 1330 किलोमीटर दूरी पर है। यह अम्फान की गति बीस किलोमीटर प्रतिघंटे से ज्यादा की रफ्तार से बढ़ रहा है। रविवार की शाम के बाद इसे उत्तर-पूर्व दिशा में गति करने का अनुमान लगाया जा रहा है। यह भी बताया गया है कि 18 मई को चक्रवात भयंकर रूप धर लेगा। और 19 मई को इसके समुद्र तट से टकराने की संभावना है। अब तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि समुद्री चक्रवात कहां पर लैंडफाल करेगा। यह भी बताया गयाहै कि 18 मई से जगतसिंहपुर, केंद्रपड़ा, भद्रक, बालासोर, पुरी, खोरदा, मयूरभंज आदि जिलों में तेज बारिश शुरू हो जाएगी। मौसम विभाग का कहना है कि 19 मई को ओडिशा तटवर्ती जिलों में भारी बारिश होगी। हवाओं की रफ्तार कम रहेगी। खाद्य एवं आश्रयस्थल चाकचौबंद रखने को कहा गया है।

अम्फान चक्रवात से संभावित तबाही को ध्यान में रखते हुए बताया गया है कि इससे निपटने को ओडिशा की तैयारी जोरों पर हैं। इस चक्रवात का असर उत्तर ओडिशा पर पड़ेगा। सरकार 12 जिलों को अलर्ट जारी किया है। हालांकि चार जिले बालासोर, भद्रक, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा के जिलाधिकारी के साथ विशेष राहत आयुक्त ने गहन चर्चा की।  सरकारी छुट्टियां रद्द कर दी गयी हैं। किसकी ड्यूटी कहां लगाई जाएगी इस पर प्लान तैयार है। सरपंचों के माध्यम से स्कूल टीचरों के नेटवर्क के जिम्म‍ॆ आश्रयस्थल का प्रबंधन दिया गया है। नेशनल डिजास्टर रिसपांस फोर्स के महानिदेशक सत्यनारायन प्रधान ने सतर्कता की जानकारी ट्वीट करके दी। उनका कहना है कि चक्रवात के दौरान एनडीआरएफ की चार-चार टीमें ओ़डिशा एवं पश्चिम बंगाल में तैनात हैं। इसके अलावा बीस टीमें स्टैंडबाइ में रखी गयी हैं।