ओडिशा में 156 नये मरीज, अनलॉक-1 में और भी सख्ती, हफ्ते में दो दिन शटडाउन

0
289

भुवनेश्वर। कोरोना वायरस ओडिशा में चौतरफा पंजे गड़ा चुका है। तेजी बढ़ रहे पॉजिटिव मामलों के मद्देनजर सरकार ने लॉकडाउन में ढिलायी देने का विचार लगभग त्याग दिया है। अब तीस जून तक शाम सात बजे से लेकर सुबह सात बजे तक कर्फ्यू रहेगा। इसके अलावा 11 जिलों में शनिवार और रविवार पूरी तरह से शट डाउन रहेगा। हॉट-स्पॉट एरिया में शट डाऊन का फैसला जिलाधिकारियों पर छोड़ दिया गया है। बीते 24 घंटों में 156 नये पॉजिटिव मामले मिले हैं। इनमें से 153 पॉजिटिव क्वारंटीन सेंटरों से रिपोर्ट हुए हैं। बाकी तीन लोकल हैं। केंद्रपाड़ा जिले से सबसे ज्यादा 50 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। फिर 20 कटक से। इसके अलावा गंजाम से 17, जगतसिंहपुर 11, जाजपुर 9, कंधमाल 7 और भद्रक, खोरदा, नयागढ़, नुआपाड़ा, मयूरभंज, बरगढ़ व सोनपुर तथा सुंदरगढ़ में 3-3 मामले मिले हैं। बलंगीर और संबलपुर में 2-2 तथा बौद्ध, केंदुझर और मलकानगिरि में 1-1 मामले मिले हैं। कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या 969 है जबकि 1126 ठीक हो चुके हैं। यह सूचना ओडिशा के स्वास्थ विभाग की वेबसाइट में यह सूचना प्रकाशित की गयी है।

कोरोना की भयावहता के चलते सरकार ने अनलॉक-1 को लॉकडाउन से भी सख्त कर दिया है। किसी भी धार्मिक स्थल मंदिर आदि में सार्वजनिक तौर पर पूजा अर्चना नहीं की जा सकेगी। चीफ सेक्रेटरी असित त्रिपाठी ने कहा कि यह केंद्र की अनलॉक-1 की गाइड लाइन के अनुसार है। त्रिपाठी गीतगोविंद कांफ्र‍ॆंस हाल में मीडिया से रूबरू थे। उनका कहना है कि यह व्यवस्था 30 जून तक रहेगी। इस दौरान शॉपिंग मॉल भी नहीं खुलेंगे। होटलों का कारोबार 30 फीसदी की क्षमता तक चलाया जा सकता है। यही नहीं अंतर-राष्ट्रीय उड़ाने भी तीस जून तक बंद रहेंगी। सिनेमा हाल, जिमनेजियम, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, धियेटर, बार, एसेम्बली हाल, आडिटोरियम, जहां पर भीड़भाड़ जुटती है सब 30 जून तक बंद रहेंगे। हर तरह के सामाजिक, खेलकूद, मनोरंजन एक्टीविटी, एकेडमिक, कल्चरल, रीलिजियस कार्यक्रम आदि पर 30 जून तक रोक लगा दी गयी है।

स्कूल कालेज आदि 31 जुलाई तक बंद रहेंगे। त्रिपाठी का कहना है कि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के निर्देश पर ये एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। ट्रेन, बस, विमान सेवा जारी रहेगी। आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा। जीवनयापन और औद्योगिक एक्टीविटीज में संतुलन बनाए रखते हुए फैसले लिए जा रहे हैं। क्वारंटाइन सेंटर और अस्थायी मेडिकल सेंटरों में सुविधाओं पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। चीफ सेक्रेटरी का कहना है कि राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में 16,644 मेडिकल सेंटरों में 7,38,000 बेड हैं। उनका कहना है कि 5,37,222 लोगों को क्वारंटाइन सेंटरों में रखा गया था जिनमें 2,87,453 लोगों को बीती रात (रविवार) तक डिसचार्ज कर दिया गया था । अस्थायी मेडिकल सेंटरों में 2,49,769 लोग हैं। संदिग्ध मामले होम क्वारंटाइन में भेजे जा रहे हैं। कोरोना से ठीक हुए लोगों को अनिवार्य रूप से आइसोलेशन में रखने को कहा गया है।

चीफ सेक्रेटरी का कहना है कि तटीय जिलों गंजाम, पुरी, खोरदा, नयागढ़, कटक, जगतसिंहपुर, केंद्रपाडा, जाजपुर, भद्रक, बालासोर और बलंगीर में शनिवार और रविवार को शटडाउन रहेगा। सिर्फ मेडिकल संस्थान, नर्सिंग होम, दवाई की दुकान खुली रहेंगी। बाकी सब बंद। कमिश्नर पुलिस मीडिया को इस मौके पर मूवमेंट की इजाजत देंगे। अनिवार्य सेवाओं में अग्निशमन, संचार सेवा, पेट्रोल पंप्स खुले रहेंगे। शादी ब्याह, अंत्येष्टि आदि में कितने लोग होंगे यह जिला प्रशासन तय करेगा। संक्रमण पर काबू पाने के लिए हर संभव कदम उठाने को स्थानीय प्रशासन निर्णय ले सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here