ओडिशा में चीन से आया चिकित्सा छात्र ‘कोरोना’ की चपेट में, मेडिकल में रिफर, जांचें शुरू

0
142

कंधमाल (विशेष प्रतिनिधि)। ओडिशा के फुलबानी में एक चिकित्सा छात्र के कोरोना वायरस की चपेट में आने का संदेह है, उसके अस्पताल में भरती कराके जांचे करायी जा रही है। यह छात्र चीन के वुहान में चिकित्सा विज्ञान का विद्यार्थी है। इसने खुद मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी को पत्र लिखकर कोरोना वायरस की चपेट में होने की बात लिखी है। मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी नृसिंहचंद्र बेहरा ने लक्षण के आधार पर उसे कटक के एससीबी मेडिकल कालेज रिफर किया  है। चिकित्सा प्रशासन की ओर से एंबुलेंस की व्यवस्था की गयी।

कोरोना वायरस के लक्षण उसने अपने शरीर में खुद महसूस किया। इसी शक के आधार पर उसने मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी को पत्र लिखा। नाम न छापने का अनुरोध करते हुए उसने बताया कि उसे जाड़ा देकर बुखार आ रहा था। सरदी के कारण नाक बहने की शिकायत भी उसने की। उसका यह भी कहना है कि दवा का असर भी नहीं हो रहा है। कोरोना वायरस का यह संदिग्ध रोगी 11 जनवरी को चीन से अपने घर छुट्टियों में आया था। वह चीन के एक शहर में मेडिकल की पढ़ाई कर रहा है। यह उसका अंतिम वर्ष है। बीते पांच साल से वह चीन में है। साल में एक बार आता है। उसके पिता रिटायर्ड फार्मेसिस्ट हैं। मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी बेहरा ने बताया कि एससीबी मेडिकल कालेज उसे एंबुलेंस से भेजने की व्यवस्था कर दी गयी है। पैथालॉजिकल टेस्ट एससीबी मेडिकल कालेज कराएगा।

 

 

अब तक केरल में इस वायरस का एक रोगी पाया गया है। यदि इसके टेस्ट पॉजिटिव निकलते हैं तो ओडिशा दूसरा राज्य होगा। उधर ओडिशा सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर एडवाइजरी जारी की है। प्रमुख सचिव स्वास्थ एवं परिवार कल्याण निकुंज बिहारी धल का कहना है कि विभाग कोरोना वायरस से निपटने को पूरी तैयारी में है। इससे पहले चीन से मलेशिया व मलेशिया फ्लाइ से फिर ओडिशा पहुंचे दो यात्रियों ने अपना विवरण दिया था। बाहर से आने वालों का विवरण रखा जा रहा है।

संदिग्ध रोगियों के रक्त के नमूने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी पुणे भेजे जाएंगे। रक्त के नमूने एससीबी मेडिकल कालेज कटक और रीजनल मेडिकल रिसर्च सेंटर भुवनेश्वर से एकत्र किए जाएंगे। एससीबी मेडिकल कालेज और विमसार मेडिकल कालेज संबलपुर में ऐसे मरीजों को रखे जाने की व्यवस्था की गयी है। जन स्वास्थ विभाग के निदेशक अजित महंति ने बताया कि कोरोना वायरस के खतरे के अंदेशे को देखते हुए 19 एडवाइजरी जारी की गयी है। यह समय समय भेजी जाती रहेगी। कोरोनावायरस के लक्षण पर बताया गया है कि सिरदर्द, नाक बहना, खांसी, गले मे खराश, बुखार, अस्वस्थता का एहसास होना, छींक आना, अस्थमा का बिगड़ना, थकान महसूस करना, निमोनिया फेफड़ों में सूजन प्रमुख लक्षण हो सकते हैं। बताया गया है कि देश में अब तक 20 हजार यात्रियों का चेकअप किया जा चुका है। बताया जाता है कि यह वायरस जानवरों से मानव में फैला है। मरीजों से लिए गे वायरस के सैंपल की जांच प्रयोगशाला में की गयी है। इसके बाद चीन के अधिकारियों और विश्व स्वास्थ संगठन ने कहा कि यह एक कोरोनावायरस है। चीन से फैले इस वायरस की वजह से अब तक क़रीब 170 लोगों की मौत हो चुकी है।

केरल में कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति ये है –

  • केरल में क़रीब 1053 लोगों को निगरानी में रखा गया है
  • 24 सैंपल पुणे भेजे गए
  • 15 सैंपल निगेटिव मिले
  • 1 सैंपल पॉज़िटिव
  • गुरुवार को सात मरीज़ भर्ती
  • अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा है 15 लोगों का इलाज