ओडिशा में कोरोना के साथ ही चक्रवात अम्फान का कहर, नवीन बोले, निपटने को तैयार, मोदी ने बैठक बुलायी

0
118

भुवनेश्वर। कोरोना से जूझ रहे ओडिशा पर अब अम्फान का खतरा काफी नजदीक आ गया है। चक्रवाती तूफान अम्फान ओडिशा की ओर बढ़ रहा है। पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के बीच 20 मई को लैंडफाल करेगा। एनडीआरएफ की 15 टीमें 12 तटीय जिलों में तैनात की गयी है। तटवर्ती इलाकों से ओडिशा सरकार ने 11 लाख लोगों को उनके गांवों से निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का दावा किया है। गोपालपुर, पुरी, बंदरगाह पारादीप (जगतसिंहपुर) और धामरा (भद्रक) में लोकल वार्निंग सिगनल फोर वार्निंग जारी की गयी है। कटक और खोरदा में 55 से 65 किमी. प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं और बारिस होगी। राज्य सरकार के मंत्री प्रताप जेना ने लोकसेवा भवन में अम्फान से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की है। राज्यों में चक्रवाती तूफान के असर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपात उच्चस्तरीय बैठक शाम को बुलायी गई है। इसमें राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अथारिटी के लोग शामिल होंगे। ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि हवाओं की गति 180 किमी. की गति तक जा सकती हैं। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि उनकी सरकार चक्रवात अम्फान से निपटने को तैयार है। एक भी जान नहीं जाने देंगे।

हालांकि तटीय क्षेत्र के कुछ हिस्सों में बारिस का सिलसिला आज से ही चल निकलेगा पर मंगलवार को भीषण बारिस तेज हवाएं चलेंगी। तटवर्ती क्षेत्र के साथ ही कोरापुट, रायगड़ा, मलकानगिरि, नवरंगपुर, कंधमाल, केंदुझर, मयूरभंज, ढेंकानाल जिले में बारिस की प्रबल संभावना जतायी गयी है। अम्फान चक्रवाती तूफान दीघा और हतिया द्वीप के बीच समुद्र तट से टकराएगा (लैंडफाल)। फिलहाल अम्फान मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर और 13 एन और 86.2 ई के आसपास है। ओडिशा के पारादीप से 800 किमी. दक्षिण और दीघा के 950 किमी. दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में है। बताया जाता है कि अम्फान अपनी ताकत के निशान के रूप में एक बहुत काम्पैक्ट और स्पष्ट रूप से आंख का रूप धारण कर चुका है। यह तूफान 150 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से भरा हुआ है। हवाओं के झोंके की गति 170 किमी. प्रतिघंटे की है। इसके उत्तर, उत्तर पूर्व की ओर स्थानांतरित करने की संभावना है। कम से कम छह घंटे में यह समुद्र में प्रबल चक्रवाती के रूप में परिवर्तित होगा। आज सोमवार को अम्फान के प्रभाव के चलते मलकानगिरि, कोरापुट, रायगड़ा, नवरंगपुर, कंधमाल, केंदुझर, मयूरभंज, ढेंकानाल  में बारिस की संभावना है। देर शाम से तटवर्ती जिले पुरी, गंजाम, गजपति, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, बालासोर में बारिस शुरू हो जाएगी। यह 19 और 20 मई को भी होगी। मौसम विभाग के अनुसार आज शाम से तटीय ओडिशा में 45 से 55 किमी. वेग से हवाएं चलने की संभावना है। और 20 मई की शाम से उत्तरी ओडिशा के जिलों में 110 से 120 किमी. प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी।