ओडिशा मुंबई से उठाएगा मिस्र का प्याज, संकट जारी, 10 जन.तक संकट हल होने की उम्मीद

0
72

भुवनेश्वर (विप्र)। ओडिशा मेों प्याज के संकट से निपटने के लिए सरकार ने केंद्र का सहारा लिया है। मिस्र से आयात होने वाले प्याज की खेप अगले हफ्ते मुंबई के बंदरगाह पर आएगी। अन्य राज्यों के साथ ही ओडिशा भी यहां से प्याज की खेप उठाएगा। इसे रिटेल आउट लेट से बेचा जाएगा।

 

राज्य के विभिन्न हिस्सों में बड़ा प्याज 150 रुपया प्रतिकिलो बिक रहा है जबकि छोटा प्याज 100 रुपया प्रतिकिलो है।  सब्जी विक्रेता बताते हैं कि 10 जनवरी के बाद हालात सुधरने की उम्मीद है। ओडिशावासी कहते हैं कि जब एक रुपये किलो चावल सरकार मुहैया करा सकती है तो बाजार में अभाव के दौर में प्याज पर सब्सिडी दी जाए और उपभोक्ताओं को सीमित मात्रा में प्याज दिया जाए।

ओडिशा में रोजाना 15 सौ मीर्टिक टन प्याज आयात किया जाता है। राजधानी भुवनेश्वर में ही 300 मीट्रिक टन की रोज खपत है। बाजार में प्याज का संकट के कारण यह खपत घटकर 40 मीट्रिक टन ही रह गयी है। आपको बताते चलें कि ओडिशा का किसान 4 लाख मीट्रिक टन प्याज एक साल में औसतन उगाता है। लेकिन राज्य में प्याज भंडारण की सुविधा बिलकुल नहीं है। महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक से प्याज मंगा कर बाकी कमी पूरी की जाती है।

कटक के छत्रबाजार ट्रेडर्स एसोसिएशन के सेक्रेटरी देवेंद्र साहू कहते हैं कि बीते दो दिन से नासिक से प्याज आने के कारण दाम स्थिर हैं वरना यह और भी बढ़ जाता। जैसे जैसे सप्लाई बढ़ेगी कीमतों पर नियंत्रण होता जाएगा। साहू कहते हैं कि उपभोक्ताओं को ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है, अगर बारिश न हुई तो इसी दस जनवरी से उनकी थाली में प्याज भरपूर मिलेगा। साहू का यह भी कहना है कि कटक का छत्र बाजार मुख्य बाजार है यहां पर प्याज जरूरत से काफी कम आया है। संकट की यही वजह है।

उधर केंद्रीय उपभोक्ता मंत्रालय के हवाले से पता चला है कि 12 दिसंबर तक प्याज की पहली खेप मिस्र से आएगी। इसमें 15 सौ मीट्रिक टन मुंबई के नावाशेवा बंदरगाह पर आएगा। यहां से सरकारें जरूरत भर का प्याज खरीद सकती हैं। यह भी पता चला है कि सरकार के पास 56 हजार मीट्रिक टन प्याज था जिसमे आधा तो सड़ गया। इसके पीछे बताया जाता है कि राज्यों ने प्याज नहीं खरीदा था।

बताया गया है कि मिस्र से 6090 मीट्रिक टन प्याज की खेप आएगी। विदेश से कारोबार करने वाली कंपनी एमएमटीसी ने मिस्र से 6090 मीट्रिक टन प्याज का आयात का अनुबंध किया है। जिन छह राज्यों से मांग आयी है उनमें आंध्र, पश्चिम बंगाल, केरल और सिक्किम के साथ ही ओडिशा भी शामिल है। इस आयतित प्याज की बिक्री मूल्य अधिकतम 55 रुपया प्रति किलोग्राम होगा। दिल्ली वालों को यह 60 रुपये प्रतिकिलोग्राम मिलेगा। बीती 23 नवंबर को जिन राज्यों के मुख्यसचिवों को पत्र लिखा गया था उनमें ओडिशा भी है। राज्यों में प्याज पहुंचाने के लिए नेफेड ट्रांसपोर्टेशन की व्यवस्था करेगा। यह प्याज रिटेल आउटलेट में उपलब्ध होगा। केंद्र सरकार की मंजूरी के मुताबिक कुल 1.2 लाख मीट्रिक टन प्याज आयात किया जाएगा।