अम्फान के कहर की आशंका से सहमा ओडिशा, बारिस के साथ चलेंगी तेज रफ्तार से हवाएं

0
150

भुवनेश्वर। करोना से जूझ रहे ओडिशा अम्फान का कहर ओडिशा में भी बरपेगा। पश्चिम बंगाल व बांग्लादेश के बीच यह चक्रवाती तूफान लैंडफाल करेगा। सोमवार को राज्य के तटवर्ती क्षेत्र में बारिस शुरू हो जाएगी। कोरापुट, रायगढ़ा, मलकानगिरि, नवरंगपुर, कंधमाल, केंदुझर, मयूरभंज, ढेंकानाल जिले में सोमवार को बारिस होने की संभावना जतायी गयी है। यह भी बताया गया है कि 20 मई की शाम को उत्तरी ओडिशा के तटीय क्षेत्र में बारिस के साथ ही 120 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलेगी। 3

मौसम विभाग द्वारा जारी सूचना के अनुसार अम्फान दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी में है। यह पारादीप से 960 किलोमीटर तथा दीघा से 1110 किलोमीटर व बांग्लादेश के खेपुपारा से 1230 किलोमीटर दूर है। अम्फान 24 घंटे के भीतर विकराल रूप धारण कर लेगा। आने वाले 12 घंटों में अम्फान अपनी गति का रास्ता बदलते हुए (रिकर्व) करते हुए उत्तर, उत्तर पूर्व की दिशा में अग्रसर होगा तथा 20 मई की शाम को पश्चिम बंगाल के दीघा व बांग्ला के हतिया द्वीप के बीच लैंडफाल करेगा। सोमवार की शाम को गजपति, गंजाम, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा जिले के कुछ स्थानों पर बारिस हो सकती है। और 19 मई को तटीय जिलों में बारिस जारी रहेगी। कुछ स्थानं पर भारी बारिस होने की संभावना है। तटीय क्षेत्रों में 45 से 55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी। 20 को यह 110 से 120 की स्पीड से चलेगी।

ओडिशा के चार जिलों मे हाई अलर्ट जारी किया गया है। ये जिले हैं जगतसिंहपुर, भद्रक, केंद्रपाड़ा और बालासोर। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा है कि चक्रवात से किसी को भी मरने नहीं दिया जाएगा। राहत एवं बचाव कार्यों की तैयारियां जारी हैं। तटीय पंचायतों में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर हटा लिए गए हैं। आश्रयस्थलों में सब तैयारी पूरी कर ली गयी हैं। उधर गृहमंत्रालय ने रविवार को कहा है कि चक्रवात अम्फान 20 मई को पश्चिम बंगाल के तट से टकराएगा। इसके भयंकर रूप लेने की आशंका है।

यह दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी में सक्रिय है। यह उत्तर और उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ रहा है। यह दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी में सक्रिय है। मौसम विभाग के हवाले से बताया गया है कि 12 घंटे में भयावह शक्ल में आ सकता है। सोमवार को यह उत्तर दिशा की ओर बढ़ेगा। इसके बाद उत्तर-उत्तरपूर्व और उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी की ओर मुड़ जाएगा। पश्चिम बंगाल और ओडिशा को केंद्र ने हर संभव मदद का ऐलान किया है। ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने शनिवार देर शाम 12 जिलों के जिलाधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग से बात की।