यमुना एक्सप्रेस-वे हादसा: 6 महीने में 95 सड़क हादसे, 94 की गई जान

0
85

नई दिल्ली: आगरा के यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) पर हादसों की बढ़ती संख्या चिंता का कारण बनी हुई है. ट्रैफिक पुलिस निदेशालय के आंकड़े दिल दहलाने वाले हैं. यमुना एक्सप्रेसवे पर जनवरी से जून 2019 तक 95 दुर्घटनाएं हुईं, जिनमें 94 लोगों की मौत हुई, वहीं 120 लोग घायल हो चुके हैं. दरअसल, तेज रफ़्तार यूपी रोडवेज की जनरथ बस एत्मादपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत एक्सप्रेसवे की रेलिंग को तोड़ते हुए झरना नाले में जा गिरी. इस हादसे में 29 लोगों के शवों को निकाला गया है, जबकि 21 घायलों का इलाज चल रहा है. जिलाधिकारी के मुताबिक, प्रथम दृष्टया हादसे की वजह तेज रफ़्तार और ड्राइवर को नींद आना बताया जा रहा है.

मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के निर्देश पर ट्रांसपोर्ट कमिश्नर, मंडल कमिश्नर और आईजी (आगरा रेंज) को हादसे की जांच कर कारणों का पता लगाने को कहा गया है. साथ ही हादसे की वजहों की रिपोर्ट 24 घंटे में सौंपने के निर्देश दिए गए हैं. जांच कमेटी से कहा गया है कि वह यह भी सुझाव दे कि भविष्य में इस तरह के हादसों को कैसे रोका जा सकता है. इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया. साथ ही डीएम और एसएसपी को घायलों की समुचित इलाज मुहैया कराने का निर्देश दिया है.

अखिलेश ने की 50 लाख रुपए मुआवजे की मांग

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि वे इस दुख की घड़ी में शोक संतप्‍त परिवार के साथ हैं. अखिलेश यादव ने सरकार से मुआवजा राशि बढ़ाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि सरकार को मृतकों के परिजनों को 50-50 लाख रुपए की मुआवजा राशि देनी चाहिए. साथ ही उन्होंने पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग भी की.

राजनाथ सिंह ने सीएम योगी से की बात

लखनऊ के सांसद और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मामले पर संज्ञान लेकर सीएम योगी से बात की है. इसके साथ ही मौतों पर दुख भी जताया है. वहीं प्रधानमंत्री ने भी ट्वीट कर अपनी संवेदना व्यक्त की है.

पीएम मोदी ने जताया दुख

प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा, ‘उत्तर प्रदेश के आगरा में हुए बस हादसे से दुखी हूं. मृकतों के परिजनों के साथ मेरी संवेदना है. मैं घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं. राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन प्रभावितों की हर संभव मदद कर रहा है.